Thursday, Jun 24, 2021
-->
upendra-kushwaha-of-rlsp-asaduddin-owaisi-of-aimim-and-mayawati-of-bsp-spoil-prsgnt

क्या ओवैसी, कुशवाहा और मायावती ने बिगाड़ दिया महागठबंधन का खेल, एक नजर....

  • Updated on 11/11/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) के नतीजे अब सबके सामने आ चुके हैं। इस बार भी एनडीए (NDA) ने 125 सीटों पर जीत दर्ज कर बहुमत हासिल कर लिया है। ऐसे में माना जा रहा है कि इस चुनावी परिणाम ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जनता में लोकप्रियता और पहुंच के साथ प्रभाव को फिर साबित कर दिया है। 

वहीँ, इन चुनावों में भले ही एनडीए और महागठबंधन के बीच टक्कर रही लेकिन इन चुनावों में दो और गठबंधन भी थे जिनपर चुनावों में नजर रही। इनमें पप्पू यादव की अगुवाई वाला प्रगतिशील लोकतांत्रिक गठबंधन और उपेंद्र कुशवाहा के नेतृत्व वाला ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्युलर फ्रंट शामिल थे। 

चिराग पासवान के लोजपा का जहाज डूबा, लेकिन नीतीश की JDU को पहुंचा गया नुकसान 

बिहार चुनाव में पप्पू यादव का गठबंधन कुछ खास नहीं कर सका। पप्पू यादव खुद अपनी मधेपुरा सीट से हार गए। जबकि दूसरे गठबंधन ने आरजेडी और महागठबंधन की हर सीट का समीकरण बिगाड़ दिया। इसमें ओवैसी और मायावती की बीएसपी की भी भूमिका रही।

उपेंद्र कुशवाहा की राष्ट्रीय लोक समता पार्टी आरएलएसपी के खाते में कोई सीट नहीं आई लेकिन उसके गठबंधन से दूसरी पार्टियों पर असर पड़ा। आरएलएसपी ने दिनारा, केसरिया सहित कई सीटों पर अपनी अच्छी छाप छोड़ी। जबकि बीएसपी ने यूपी से सटे बिहार के इलाकों में अपना दमखम दिखाया। 

बहुमत पर BJP के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने जताई खुशी, कहा- अगले 5 साल CM रहेंगे नीतीश कुमार

वहीँ, बीएसपी के अंबिका सिंह और आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के बेटे सुधाकर सिंह में रामगढ़ सीट पर कड़ा मुकाबला रहा। जबकि चैनपुर सीट पर पार्टी ने जीत हासिल की। बीएसपी गोपालगंज में दूसरे नंबर पर रही। इसके अलावा भोजपुर, शाहाबाद की कई सीटों का चुनावी समीकरण भी बीएसपी की वजह से प्रभावित हुआ।

इन चुनावों में ओवैसी बहुत बड़ा फैक्टर बनकर उभरे हैं। मिथिलांचल से लेकर कोसी और सीमांचल के इलाके तक ओवैसी ने गहरा प्रभाव छोड़ा। ओवैसी की पार्टी ने आरजेडी के माय यानी मुस्लिम और यादव समीकरण बिगाड़ दिए। एआईएमआईएम (AIMIM) के उम्मीदवारों ने मुस्लिम वोट तो लिए ही साथ ही अमौर, वायसी, जोकीहाट सीट भी जीत ली। 

PM मोदी की 12 चुनावी रैलियों के इन क्षेत्रों पर क्या है NDA का हाल, जानें कितना पड़ा वोटरों पर असर

इसके साथ ही कोचाधामन सीट पर भी पार्टी ने जीत हासिल की है। यह कहना गलत नहीं होगा कि एलजेपी के कारण जेडीयू को जितना नुकसान हुआ है उससे कहीं ज्यादा बड़ा झटका ओवैसी और बीएसपी ने आरजेडी व महागठबंधन को दे दिया है।

बता दें, चुनाव आयोग ने 223 सीटों के रिजल्ट घोषित कर दिया है। जिसमें एनडीए 114 सीटें जीत चुकी है। जबकि 11 सीटों पर बढ़त हासिल की है। दूसरी तरफ महागठबंधन 104 सीटों पर जीत हासिल की है। वहीं 6 सीटों पर आगे चल रही है। पीएम मोदी,गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट करके बिहारवासियों को एनडीए के पक्ष में समर्थन करने के लिये धन्यवाद किया है।

comments

.
.
.
.
.