Thursday, Jun 17, 2021
-->
upmrc bombardier india bags contract kanpur agra metro projects sobhnt

सरकार ने अब कानपुर-आगरा मेट्रो प्रोजेक्ट से भी चीनी कंपनी को किया बाहर

  • Updated on 7/4/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। बीते दिनों से चीन और भारत के बीच सीमा पर लगातार तनाव बढ़ता जा रहा है। 15 जून को हुई हिंसक झड़प में भारत ने अपने 20 सैनिक खो देने के बाद देश में चीनी कंपनियों को सबक सिखाना शुरु कर दिया है। हाल में सरकार ने 59 चायनीज ऐप्स को देश में बैन किया था। इसके बाद अब उत्तरप्रदेश सरकार ने तकनीकी खामियों के कारण आगरा-कानपुर मेट्रो रेल प्रोजेक्ट के लिए चीनी कंपनियों के टेंडर को खारिज कर दिया है। 

नेपालः बच गई PM ओली की कुर्सी, सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी की बैठक टली

तकनीकी खराबी के कारण चीन से छीना प्रोजेक्ट
उत्तरप्रदेश मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने इस मामले पर कहा है कि चीन की कंपनियों के साथ तकनीकी खराबी के कारण अब इस प्रोजेक्ट को बॉम्बार्डियर ट्रांसपोर्ट इंडिया प्राइवेट लिमिटेड को दिया है। यह कंपनी भारतीय कंपनियों का ही एक समूह है। जो अब इस काम को आगे बढ़ाएगा। 

पूर्व चुनाव आयुक्त एसवाई कुरैशी ने दी मोदी सरकार को सलाह, चीन को सबक सिखाना है तो ये करें...

कुल 67 ट्रेने चलेंगी
बता दें कानपुर- आगरा मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए कुल 67 ट्रेनों की सप्लाई की जाएगी। जिसमें से 39 ट्रेने कानपुर को और 28 ट्रने आगरा को मिलेंगी। एक ट्रेन में 3 कोच होने की उम्मीद है और एक ट्रेन की यात्रा क्षमता 980 होगी इस हिसाब से प्रत्येक कोच में 315 के आसपास लोग आने की उम्मीद है।


 

यहां पढ़ें अभी तक की महत्वपूर्ण खबरें

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.