Thursday, Mar 04, 2021
-->
US in action after attack on Saudi oil plants Many sanctions imposed on Iran

सऊदी तेल संयंत्रों पर हमले के बाद एक्शन में अमेरिका, ईरान पर लगाए कई प्रतिबंध

  • Updated on 9/21/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सऊदी अरब (Saudi Arabia) में अरामको (Aramco) के दो बड़े तेल संयंत्रों पर यमन विद्रोहियों के द्वारा ड्रोन अटैक के बाद अमेरिका (America) एक्शन में है। इन हमलों के लिए ईरान को जिम्मेदार ठहरा चुके अमेरिका ने अब बड़ा कदम उठाया है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald trump) ने ईरान (Iran) पर नए प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है और साथ ही उस इलाके में अमेरिकी सेना की तैनाती को मंजूरी दी है।

सउदी के हमले के बावजूद ईरानी नेता से मिल सकते हैं ट्रंप : व्हाइट हाउस

पेंटागन (Pentagon) से मिली जानकारी के मुताबिक, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सऊदी तेल सुविधाओं पर हमले के बाद अमेरिकी सेना की तैनाती को मंजूरी दी है। पेंटागन का कहना है कि सेना की तैनाती में रक्षात्मक रूप से की जा रही है और यह मुख्य रूप से वायु और मिसाइल रक्षा पर केंद्रित है।

इसके साथ ही अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने ईरानी बैंक पर प्रतिबंध लगाए हैं। ईरान के राष्ट्रीय बैंक, ईरान सेंट्रल बैंक को बैन कर दिया गया है। किसी भी देश के बैंक पर बैन लगाना ये सबसे कड़ा प्रतिबंध है।

ट्रम्प का बड़ा बयान, कहा- सऊदी तेल संयंत्रों पर हमले का जवाब देने को तैयार अमेरिका

गौरतलब है कि सऊदी अरब में अरामको के दो बड़े संयंत्रों पर यमन विद्रोहियों के द्वारा ड्रोन अटैक के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट करते हुए कहा था कि सऊदी अरब मे तेल संयंत्र पर हमला हुआ। हमारे पास यह मानने का वाजिब कारण है कि हम अपराधी को जानते हैं। यदि इसकी पुष्टि हो जाती है तो हम तैयार हैं लेकिन हम इसके बारे में सऊदी अरब से जानना चाहते हैं कि इस हमले का क्या कारण है।

सऊदी अरब के अरामको की तेल कंपनी पर ड्रोन हमला, दो कारखानों का उत्पादन रोका

अमेरिका के विदेश मंत्री ने  ईरान को जिम्मेदार ठहराया
अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने इन हमलों के लिए ईरान को जिम्मेदार ठहराया था। पोम्पिओ ने कहा था कि ईरान ने दुनिया के ऊर्जा आपूर्ति पर अप्रत्याशित हमला किया। अमेरिका का मुख्य सहयोगी सऊदी अरब लगातार ईरान पर हुती विद्रोहियों को हथियार मुहैया कराने का आरोप लगाता आया है। वहीं ईरान इन आरोपों से इनकार करता रहा है।

comments

.
.
.
.
.