अमेरिका ने जेल में बंद उइगर विद्वान को नोबेल शांति पुरस्कार के लिए नामित किया

  • Updated on 1/31/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। अमेरिकी सांसदों ने चीन में जेल में बंद उइगर विद्वान इल्हाम तोतही को नोबेल शांति पुरस्कार के लिये नामित किया है। इल्हाम अलगाववाद के आरोप में आजीवन कारावास की सजा काट रहे हैं।

अमेरिका के दोनों दलों के सांसदों ने इल्हाम को पुरस्कार देने का समर्थन किया है। रिपब्लिकन सांसद मार्को रूबियो और निर्दलीय बर्नी सैंडर्स ने डेमोक्रेटिक पार्टी के साथ मिल कर इल्हाम को नोबेल शांति पुरस्कार देने से जुड़े नामांकन पत्र पर हस्ताक्षर किये।

उनके नामांकन का प्रस्ताव चीन मामलों से जुड़े द्विदलीय कांग्रेस कार्यकारिणी आयोग की ओर से पेश किया गया है। सांसदों ने नोबेल शांति पुरस्कार समिति के अध्यक्ष और उसके सदस्यों को मंगलवार को पत्र में लिखा, समिति को 2019 में नोबेल शांति पुरस्कार के लिये प्रोफेसर तोहती के अलावा कोई और योग्य व्यक्ति नहीं मिला।

उन्होंने चीन में शांति और मानवाधिकार के लिये शांतिपूर्ण संघर्ष किया। 49 साल के तोहती को सितंबर 2014 में आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी। उन्हें चीन सरकार का आलोचक माना जाता है। तोहती चीन के उइगर मुस्लिम समुदाय सें संबंध रखते हैं। शिनजियांग प्रांत में रहने वाले उइगर समुदाय को लेकर चीन में कई बार विवाद हो चुका है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.