Friday, Jan 21, 2022
-->
us president donald trump suspended h1-b visa india may suffer big loss prshnt

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सस्पेंड किया H1-B वीजा, भारत को हो सकता है बड़ा नुकसान

  • Updated on 6/23/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कोरोना महामारी (Corona pandamic) से सबसे ज्यादा प्रभावित देश अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने अपने देश में बढ़ी बेरोजगारी दर के चलते भारत को तगड़ा झटका दिया है। अमेरिका ने H1-B वीजा पर पाबंदी की घोषणा कर दी है। अमेरिका ने इसकी घोषणा करते हुए H1-B वीजा पर 31 दिसंबर 2020 तक पाबंदी लगा दी है।

अमेरिका के इस फैसले के बाद दुनिया भर से अमेरिका में नौकरी करने का सपना देखने वाले करीब ढाई लाख लोगों को धक्का लगा है। अमेरिका के फैसले का सबसे ज्यादा नुकसान भारतीय पेशेवरों को होगा।

पीएम मोदी की आदर्श ग्राम योजना को लेकर ऑडिट रिपोर्ट में उठाए गए सवाल

भारतीय आईटी प्रोफेशनल्स को सबसे ज्यादा नुकसान
आपको बता दें कि अमेरिका में काम करने वाली कंपनियों में विदेशी कामगारों को मिलने वाले वीजा को H1-B वीजा कहते है। इस विजा को एक तय अवधि के लिए जारी किया जाता है। आंकड़े बताते हैं कि अमेरिका में काम करने के लिए H1-B वीजा लेने वाले सबसे ज्यादा भारतीय आईटी प्रोफेशनल्स है, ऐसे में वीजा पर लगाई गई पाबंदी का सीधा असर भारत को होगा। भारत को इससे सबसे ज्यादा नुकसान होने की संभावना है।

सीमा पर तनाव के बीच रूस-भारत-चीन त्रिपक्षीय डिजिटल बैठक में शामिल होंगे जयशंकर

क्या है H1-B वीजा
अमेरिका की कंपनियां अगर किसी विदेशी व्यक्ति को नौकरी देती है तो उस व्यक्ति को H1-B वीजा जारी किया जाता है जिसके तहत वे किसी कंपनी में काम कर सकता है। भारत से बड़ी संख्या में आईटी प्रोफेशनल H1-B वीजा के साथ अमेरिका में काम करने जाते हैं।

H1-B वीजा का समय 3 साल के लिए होता है जिस अधिकतम 6 साल के लिए बढ़ाया जा सकता है। वीजा खत्म होने के बाद वहां काम कर रहे व्यक्ति को अमेरिका में नागरिकता के लिए आवेदन करना होता है, जिसके बाद आवेदक को ग्रीन कार्ड दिया जाता है। 

अगर H1-B वीजा खत्म होने के बावजूद भी आवेदकों को ग्रीन कार्ड नहीं मिल पाता है, जिसके बाद उसे अगले एक साल अमेरिका से बाहर रहना होगा और फिर एक साल बाद H1-B वीजा के लिए वे आवेदन कर सकता है।

छात्रों की लंबित परीक्षाओं पर अपना निर्णय सुप्रीम कोर्ट को सूचित करेगी CBSE

इस बीजा का सबसे बड़ा फायदा है कि इसके लिए कोई भी विदेशी आवेदन कर सकता है, इस वीजा के तहत वीजा धारक अपने बच्चों और पति पत्नी को अपने साथ अमेरिका ला सकता है, वह भी उतने साल के लिए अमेरिका में रह सकते हैं जितना उनको लाने वाले की वीजा अवधि है।

इस वीजा के लिए केवल बैचलर डिग्री और किसी अमेरिका में काम करने वाली कंपनी से ऑफर लेटर को दिखाकर वीजा लिया जा सकता है।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.