Wednesday, May 12, 2021
-->
us recommends temporary ban on johnson & johnson anti corona vaccine rkdsnt

अमेरिका ने जॉनसन एंड जॉनसन के कोरोना रोधी टीके पर की अस्थायी रोक की सिफारिश

  • Updated on 4/13/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। अमेरिका ने खून के थक्के जमने की रिपोर्टों की जांच करने को लेकर जॉनसन एंड जॉनसन के एक खुराक वाले कोविड-19 के टीके लगाने को ‘‘अस्थायी रूप से रोकने’’ की सिफारिश की है। रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (सीडीसी) और खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) ने मंगलवार को एक संयुक्त बयान में कहा कि वे टीकाकरण के छह से 12 दिनों बाद खून के थक्के जमने संबंधी मामले की जांच कर रहे हैं। बयान के अनुसार मस्तिष्क से आने वाली शिराओं में खून में थक्के पाये गये और प्लेटलेट की संख्या घट गयी। ये मामले 18 से 48 साल की छह महिलाओं में सामने आये और एक की मौत हो गयी।  

सीएम ठाकरे ने बढ़ते कोरोना के मद्देनजर महाराष्ट्र में लगाई धारा 144

बयान के मुताबिक इस टीके की अमेरिका में 68 लाख से अधिक खुराक दी गई है,जिनमें से ज्यादातर में किसी तरह का दुष्प्रभाव नहीं देखा गया है। जन टीकाकरण केंद्र और अमेरिकी संघीय वितरण केंद्र जॉनसन ऐंड जॉनसन के टीके की खुराक देने को अस्थायी रूप से रोक देंगे और प्रांतों तथा टीकाकरण करने वाले अन्य पक्षों से भी इसका अनुपालन करने की उम्मीद की जा रही है। हालांकि, दो अन्य टीके मॉडरेना और फाइजर, पर यह अस्थायी रोक लागू नहीं होगी। एफडीए के कार्यकारी आयुक्त जैनेट वुडकॉक ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘ मैं इस बात पर बल देना चाहूंगा कि ये घटनाएं दुर्लभ ही जान पड़तीं हैं। लेकिन कोविड-19 टीका सुरक्षा शीर्ष प्राथमिकता है। हम आशा करते है कि अस्थायी रोक महज चंद दिनों की बात है।’’ 

अपने चुनाव प्रचार पर पाबंदी के विरोध में धरने पर बैठीं ममता, निशाने पर EC

टीकाकरण पर सीडीसी की सलाहकार समिति की बुधवार को बैठक होगी, जिसमें मामलों पर चर्चा होगी। साथ ही, एफडीए ने भी खून के थक्के जमने और प्लेटलेट की संख्या घटने की जांच शुरू कर दी है। सीडीसी की प्रधान उप निदेशक डॉ एनी सुचैट ने कहा कि अधिकारियों के सामने फाइजर या मॉडरेना के संदर्भ में ऐसे थक्के के मामले सामने नहीं आये हैं और लोगों को ये टीके लेना जारी रखना चाहिए। सुचैट और एफडीए के सेंटर फॉर बायोलॉजिक्स इवैलुएशन ऐंड रिसर्च के निदेशक डॉ पीटर माक्र्स ने संयुक्त बयान में कहा, ‘‘प्रक्रिया पूरी होने तक, हम इस टीके के उपयोग पर अस्थायी रूप से रोक लगाने की सिफारिश कर रहे हैं। ’’

कोरोना रोधी टीकाकरण के लिए उम्र सीमा में ढील संबंधी याचिका पर विचार करने से कोर्ट का इनकार 

उन्होंने सुझाव दिया है कि जिन लोगों को जॉनसन ऐंड जॉनसन का टीका लगवाने के बाद तीन हफ्तों के अंदर सिरदर्द, पेट दर्द, पैरों में दर्द, या जल्दी-जल्दी सांस लेने की समस्या पेश आ रही है, वे अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता से संपर्क करें।  जे एंड जे ने एक बयान में कहा कि उसे थक्का जमने की खबरों की जानकारी है लेकिन उसका टीके से कोई संबंध स्थापित नहीं हुआ है। उसने कहा कि एहतियात के तौर पर वह यूरोप में इसमें देरी कर रहा है। अमेरिकी स्वास्थ्यय अधिकारियों ने डॉक्टरों को खून के थक्के पाये जाने से इसके (खून के थक्कों) उपचार में आमतौर पर इस्तेमाल किया जाने वाला ब्लड थिनर ‘हेपरिन’ (दवा) का इस्तेमाल करने से मना किया है । एफडीए और सीडीसी ने कहा कि ऐसा करना संभवत: खतरनाक साबित हो सकता है। 

संजय राउत बोले- कुम्भ मेले से लौटने वाले लोग बढ़ा सकते हैं कोरोना महामारी को

योगी सरकार के मंत्री ने ही लखनऊ में कोरोना हालात पर उठाए सवाल, CM पृथक-वास में 

इस टीके को फरवरी के अंत में एफडीए से आपात उपयोग की अनुमति मिली थी। उल्लेखनीय है कि खून के थक्के जमने के बारे में ङ्क्षचताएं अब तक सिर्फ एस्ट्राजेनेका टीके पर ही केंद्रित थी, जिसे अमेरिका में इस्तेमाल की अब तक अनुमति नहीं मिली है। हालांकि, पिछले हफ्ते यूरोपीय नियामकों ने कहा था कि उन्होंने टीके की खुराक और एक बहुत ही दुर्लभ तरह के खून के थक्के के बीच एक संभावित संबंध होने का पता लगाया है, जो कम उम्र के लोगों में प्लेटलेट की कम संख्या के साथ उत्पन्न होते हैं। उल्लेखनीय है कि जॉनसन एंड जॉनसन और एस्ट्राजेनेका टीके एक ही प्रौद्योगिकी से बने हैं। जॉनसन एंड जॉनसन टीके पर अस्थायी रोक की सिफारिश की घोषणा के बाद इस कंपनी के शेयर तीन प्रतिशत गिर गये।  


 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

comments

.
.
.
.
.