Sunday, Apr 18, 2021
-->
uttar pradesh court to decide date of jurisdiction in vartika singh vs smriti irani case rkdsnt

वर्तिका सिंह बनाम स्मृति ईरानी मामले में क्षेत्राधिकार की तारीख तय करेगी कोर्ट

  • Updated on 2/2/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।जिले की एमपी एमएलए अदालत में अंतर्राष्ट्रीय निशानेबाज वर्तिका सिंह द्वारा केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और दो अन्य के खिलाफ दायर एक मामले में मंगलवार को सुनवाई हुई और अदालत ने क्षेत्राधिकार निर्धारण की तारीख 6 फरवरी तय की है। वर्तिका सिंह के वकील रोहित त्रिपाठी ने मंगलवार को कहा कि एमपी-एमएलए अदालत में मंगलवार को सुनवाई हुई और अदालत ने क्षेत्राधिकार के फैसले की तारीख 6 फरवरी तय की है। 

बजट 2021 के बाद मजदूर संगठन करेंगे देशव्यापी प्रदर्शन, नाराज हैं मोदी सरकार से

त्रिपाठी ने बताया कि अन्तर्राष्ट्रीय निशानेबाज वर्तिका सिंह की तरफ से अदालत में 2 जनवरी 21 को दायर मानहानि के एक अन्य वाद में वर्तिका सिंह का बयान आज दर्ज किया गया। इस मुकदमें से सम्बंधित गवाहों उत्कर्ष विक्रम, अजीत प्रताप सिंह, वृजेश सिंह, कृष्ण प्रताप सिंह, किरण सिंह को बयान के लिए अदालत ने 19 फरवरी को तलब किया है।  

किसान प्रदर्शन: आखिरकार पत्रकार पूनिया को मिली जमानत, दिल्ली पुलिस ने किया था गिरफ्तार

गौरतलब है कि अंतराष्ट्रीय निशानेबाका वर्तिका सिंह ने केंद्रीय मंत्री और दो अन्य लोगों द्वारा केंद्रीय महिला आयोग का सदस्य बनाने के लिए पैसे मांगने का आरोप लगाते हुए यहां अदालत का रुख किया है। वर्तिका ने आरोप लगाया था कि मंत्री के करीबी लोगों ने एक फर्जी पत्र जारी कर उन्हें केंद्रीय महिला आयोग की सदस्य के रूप में नियुक्त किया था। वर्तिका सिंह ने आरोप लगाया कि केंद्रीय मंत्री के दो कथित सहयोगी विजय गुप्ता और रजनीश सिंह ने शुरुआत में उनसे एक करोड़ रुपये की मांग की और फिर 25 लाख रुपये तक आए। 

गणतंत्र दिवस हिंसा: कोर्ट का FIR में मौजूद कानून के मुताबिक कार्रवाई करने का निर्देश

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि एक व्यक्ति ने उनसे अश्लील तरीके से बात की। इसके पहले 23 नवंबर को गुप्ता ने अमेठी जिले के मुसाफिरखाना पुलिस स्टेशन में वर्तिका और एक अन्य व्यक्ति के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई थी। इसके बाद वर्तिका ने दावा किया कि जब उसने ‘भ्रष्टाचार’ का पर्दाफाश करने की चेतावनी दी तो उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करा दी गई। 

किसान मोर्चा ने किया साफ- किसानों की रिहाई तक नहीं होगी औपचारिक बातचीत

 

 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.