Sunday, Sep 19, 2021
-->
uttar pradesh discrimination mid day meal scheme in school with dalit children mayawati angry

यूपी के स्कूल में दलित बच्चों के साथ सौतेला बर्ताव, मायावती ने की निंदा

  • Updated on 8/29/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। जिले के एक प्राथमिक विद्यालय में मध्याह्न भोजन योजना के तहत दिए जाने वाले भोजन के दौरान कथित भेदभाव का मामला सामने आया है। घटना के सोशल मीडिया और टीवी चैनलों पर वायरल हुए वीडियो में दलित बच्चों के साथ खाना खाने को लेकर कथित भेदभाव नजर आ रहा है। हालांकि जिलाधिकारी भवानी सिंह खँगारौत ने आरोप को निराधार करार देते हुए मामले की गहराई से जांच के आदेश दिये हैं। 

ED ने सुप्रीम कोर्ट को बताया- आखिर क्यों चाहिए चिदंबरम की हिरासत

RBI को सरकार अपना ‘एक्सटेंशन काउंटर’ नहीं बना सकती: बैंक कर्मचारी संघ

वायरल वीडियो में बलिया नगर के रामपुर का प्राथमिक विद्यालय दिख रहा है, जहां सामान्य वर्ग के बच्चे दलित बच्चों के साथ भोजन नहीं करते और दलित बच्चे स्कूल से मिलने वाली थाली में भोजन नहीं करते। दलित बच्चे थाली अपने घर से लेकर आते हैं । वीडियो में मिडडे मिल का भोजन दलित बच्चे अलग बैठकर करते दिखाई दे रहे हैं। 

हिंदू संस्था ने दी दलील- बाबर न तो अयोध्या गया, न ही मस्जिद के लिए मंदिर गिराने का आदेश दिया

चिन्मयानंद पर आरोप लगाने वाली छात्रा के लापता होने का मामला SC पहुंचा

पिछड़ी जाति के बच्चों का कहना है कि वे थाली घर से लाते हैं। हालांकि स्कूल के प्रधानाध्यापक पुरुषोत्तम गुप्ता का कहना है कि थोड़ा बहुत भेदभाव बच्चे रखते हैं। जिलाधिकारी भवानी सिंह खँगारौत ने मीडिया के जरिये मामला सामने आने पर विद्यालय का गुरूवार को दौरा कर जांच की। उन्होंने दावा किया कि प्रथमदृष्टया दलित छात्रों के साथ भेदभाव का आरोप निराधार है लेकिन मामले की गहराई से जांच के आदेश दे दिये गये हैं।

अनुच्छेद 370 हटाने को चुनौती देने वाली याचिकाएं भेजी गईं संविधान पीठ को

मायावती ने बोला योगी सरकार पर हमला
बसपा सुप्रीमो मायावती ने उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में दलित स्कूली छात्रों को अलग बैठाकर भोजन कराने की खबर को अति निन्दनीय करार दिया है। मायावती ने गुरूवार को टवीट किया,‘‘उप्र के बलिया जिले के सरकारी स्कूल में दलित छात्रों को अलग बैठाकर भोजन कराने की खबर अति-दु:खद व अति-निन्दनीय है।‘‘

जम्मू-कश्मीर : सुप्रीम कोर्ट से इजजात मिलने के बाद येचुरी के हौसले बुलंद

उन्होंने कहा,‘‘बसपा की माँग है कि ऐसे घिनौने जातिवादी भेदभाव के दोषियों के खिलाफ राज्य सरकार तुरन्त सख्त कानूनी कार्रवाई करे ताकि दूसरों को इससे सबक मिले और इसकी पुनरावृति न हो।‘‘ उल्लेखनीय है कि बलिया के रामपुर के एक प्राइमरी स्कूल में कुछ दलित बच्चों को अलग थाली में खाना देने की खबरों के बाद मायावती ने प्रतिक्रिया दी है।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.