Wednesday, Feb 19, 2020
uttarakhand-bjp-officers-list

उत्तराखंड में दायित्वधारियों की दूसरी सूची के लिए भाजपाइयों की लामबंदी

  • Updated on 12/30/2018

देहरादून/ब्यूरो। दायित्वधारियों की पहली सूची में शामिल नेताओं का स्वागत चल ही रहा है और वहीं दूसरी ओर दायित्वधारियों की दूसरी सूची के लिए भाजपाइयों ने लामबंदी शुरू कर दी है। पहली सूची में महज 14 नेताओं को दायित्व मिले हैं। किसी विधायक का नंबर अभी तक नहीं आया है।

दायित्वधारियों की पहली सूची एक अनार सौ बीमार साबित हुई है। भाजपा में दायित्व मांगने वाले 100 से अधिक थे और उम्मीद जताई जा रही थी कि पहली सूची में 20-25 नेताओं की मुराद पूरी हो जायेगी। पहली सूची आई तो कई नेताओं के अरमान धरे रह गये। सूची छोटी होते-होते 14 तक पहुंच गई। कई ऐसे नेताओं के नाम कट गये, जो एक दिन पहले तक अपना नाम पक्का मानकर चल रहे थे। 

बाबा रामदेव को HC का झटका, 2.4 करोड़ की लड़ाई हारी दिव्य फार्मेसी

किसी भी विधायक का नंबर पहली सूची में नहीं आया। अब भाजपाइयों की ओर से फिर से दायित्वों के लिए लामबंदी की जा रही है। सरकार और संगठन में असरदार नेताओं के यहां दायित्वों की चाहत रखने वालों की कतार लगी हुई है। एक-दो नेता तो दिल्ली तक दौड़ लगा आये। कुछ नेता संघ नेताओं की परिक्रमा में लगे हैं। नेताओं को उम्मीद है कि लोकसभा चुनाव नजदीक होने के चलते दायित्व जल्दी बांटे जायेंगे।

विधायक दर्जा राज्यमंत्री बनने को तैयार
मंत्री बनने की आस खो चुके कई विधायक दर्जाधारी राज्यमंत्री बनने को तैयार हैं। ऐसे विधायकों ने अपनी मंशा से संगठन को अवगत करा दिया है। विधायक केवल इतना चाहते हैं कि पहली सूची में शामिल दायित्वधारियों की तरह उन्हें दस हजारी न बनाया जाए, बल्कि राज्यमंत्री का दर्जा दिया जाये।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.