Saturday, Dec 07, 2019
uttarakhand-snowfall-again-in-badrinath-and-hemkund

उत्तराखण्ड: बदरीनाथ और हेमकुंड में दोपहर बाद फिर बर्फबारी

  • Updated on 11/30/2019

गोपेश्वर: उत्तराखंड (Uttrakhand) के चमोली जिले में शुक्रवार को तीन दिनों बाद मौसम साफ हुआ। जिले में दोहपर तक चटख धूप खिली रही। वहीं, दोपहर बाद बदरीनाथ धाम (Badrinath Dham) , हेमकुंड व फूलों की घाटी में रुक-रुक कर बर्फबारी होती रही है। हालांकि निचले इलकों में मौसम साफ रहा। बर्फबारी से जिले में दिनभर शीत लहर चलती रही। निजमूला घाटी के पाणा, ईराणी, घाट क्षेत्र के रामणी, कनोल सहित ऊंचाई वाले गांवों में धूप खिलने के बाद ग्रामीणों ने राहत की सांस ली। पैदल रास्तों पर बर्फ जमे होने से ग्रामीणों को आवाजाही में दिक्कतें झेलनी पड़ रही हैं। गोपेश्वर-मंडल-ऊखीमठ मोटर मार्ग पर बर्फ जमी होने के कारण शुक्रवार को भी वाहनों की आवजाही सुचारु नहीं हो पाई।

बर्फबारी के बाद चमक उठी केदारनाथ की धवल भंगिमाएं

केदारनाथ (Kedarnath) धाम सहित अन्य ऊंचाई वाले इलाकों में विगत 3 दिनों से बर्फबारी जारी है। साथ ही बर्फबारी से धाम की पहाड़ियों की धवल भंगिमाएं और भी सौंदर्यपूर्ण हो गयी हैं। कई दिनों से हो रही बर्फबारी से केदारधाम का परिदृश्य कैलाशमय बना हुआ है। गरुड़चट्टी, मेरु-सुमेरु पर्वत, भैरव घाटी सहित चारों ओर की पहाड़ियां बर्फ से लगदग हो चांदी सी आभा बिखेर रहे हैं।

बर्फ से ढका शंकराचार्य समाधि स्थल

इसके अलावा केदारनाथ धाम में अधिकतम तापमान 12 व न्यूनतम तापमान-8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। साथ ही धाम में साढ़े चार फीट बर्फ जमी हुई है। वुड स्टोन कंपनी के मनोज सेमवाल ने बताया कि केदारनाथ में बर्फबारी के चलते निर्माणाधीन शंकराचार्य समाधि स्थल, आस्था पथ, मंदाकिनी व सरस्वती घाट सहित सम्पूर्ण केदारनाथ बर्फ से ढक चुके हैं।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.