Tuesday, Aug 04, 2020

Live Updates: Unlock 3- Day 4

Last Updated: Tue Aug 04 2020 03:29 PM

corona virus

Total Cases

1,861,808

Recovered

1,233,582

Deaths

39,044

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA450,196
  • TAMIL NADU263,222
  • ANDHRA PRADESH166,586
  • KARNATAKA139,571
  • NEW DELHI138,482
  • UTTAR PRADESH100,310
  • WEST BENGAL78,232
  • TELANGANA68,946
  • GUJARAT64,684
  • BIHAR59,567
  • RAJASTHAN46,106
  • ASSAM45,276
  • ODISHA37,681
  • HARYANA37,173
  • MADHYA PRADESH34,285
  • KERALA26,873
  • JAMMU & KASHMIR22,006
  • PUNJAB18,527
  • JHARKHAND13,500
  • CHHATTISGARH9,820
  • UTTARAKHAND7,800
  • GOA6,816
  • TRIPURA5,520
  • PUDUCHERRY3,982
  • MANIPUR2,920
  • HIMACHAL PRADESH2,818
  • NAGALAND2,129
  • ARUNACHAL PRADESH1,758
  • LADAKH1,485
  • DADRA AND NAGAR HAVELI1,284
  • CHANDIGARH1,160
  • MEGHALAYA902
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS830
  • DAMAN AND DIU694
  • SIKKIM688
  • MIZORAM502
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
uttrakhand devkamal special issue game of curtain after bjp trounced rkdsnt

देवकमल विशेषांक प्रकरण : भाजपा की फजीहत कराने के बाद पर्दा डालने का खेल

  • Updated on 7/7/2020

देहरादून/ब्यूरो। उत्तराखंड भाजपा के वैचारिक मुखपत्र देवकमल में ऐसी गलतियां कैसे हुईं कि पार्टी अध्यक्ष और प्रधानमंत्री के संदेशों में भी अर्थ का अनर्थ हो गया। इसे लेकर सोमवार को संगठन में उठापटक मची रही। अब प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बंशीधर भगत का कहना है कि सारी गलती प्रिंटिंग के स्तर पर हुई है। उसे पत्रिका का प्रकाशन दोबारा करने को कहा गया है। 

कुतुब मीनार सहित भारतीय पुरातत्व संरक्षित इमारतें पर्यटकों के लिए खुलीं

कोरोना संकट में कारोबार बढ़ाने में जुटी रिलायंस, विमानन ईंधन स्टेशनों का करेगी विस्तार

 

कंटेंट पर नजर भी नहीं डाली पदाधिकारियों ने

इसका उत्तर वह नहीं दे सके कि देवकमल का लोकार्पण के पहले उसे पार्टी के वरिष्ठ लोगों ने क्यों नहीं पढ़ा था? उधर, जैसा अंदेशा जताया गया था, बलि का बकरा तलाशा जा रहा है। पत्रिका के सम्पादक ने सारी जवाबदेही अपने ऊपर ले ली है। इस संबंध में जब सरस्वती प्रिंटिंग प्रेस के मालिक आदेश गुप्ता से बात की गई तो उन्होंने नई जानकारी दी। 

BJP के मुखपत्र "देवकमल" ने कराई फजीहत, लिखा- नरेंद्र मोदी 206 से 2049 तक पीएम पद पर हैं

 

 

कांग्रेस ने पीएम केयर्स फंड, वेंटीलेटर खरीद में गड़बड़झाले का लगाया आरोप

आदेश ने बताया कि उनके पास पेन ड्राइव में पत्रिका छपने आयी थी। कंटेंट और डिजाइन सबकुछ तैयार करके भेजा गया था। हमने सावधानी बरतते हुए दो बार मैगजिन की डमी भाजपा दफ्तर में भेजी थी। हमें कोई रिस्पांस नहीं दिया गया। इस मामले में जब प्रदेश भाजपा मीडिया प्रभारी डाक्टर देवेन्द्र भसीन से बात की तो उन्होंने कहा कि डमी की जानकारी उनके पास नहीं है। यह सम्पादक को पता होगा। 

कोरोना संकट के दौरान USA भेजी गईं दवाओं को वापस मंगा रही भारतीय कंपनियां

 

प्रिटिंग प्रेस के स्तर पर हुई गलती
उधर, पार्टी के संगठन मंत्री अजय कुमार इस मामले में प्रतिक्रिया देने के लिए फोन पर भी उपलब्ध नहीं हुए। यह बात तय हो गयी है कि देवकमल पत्रिका का लोकार्पण करने के पहले मीडिया प्रभारी, संगठन महामंत्री और पार्टी अध्यक्ष ने भी इस पर एक नजर डालने की जरूरत नहीं समझी। पैकेट खोला गया और आनन-फानन में लोकार्पण और फोटो सेशन कराकर जिम्मेदारी पूरी कर ली गई।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.