Friday, Apr 10, 2020
uttrakhand kedarnath trivendra singh rawat

श्री केदार मंदिर परिसर में 6 फीट से अधिक जमी बर्फ, यात्रा हो सकती है बाधित

  • Updated on 3/23/2020

देहरादून, ब्यूरो :  29 अप्रैल को बाबा केदार धाम के कपाट आम श्रद्धालुओं के लिए खोले जाएंगे। धाम में अभी 6 फीट से भी अधिक मोटी बर्फ की परतें जमी हुई हैं। इससे आगामी यात्रा बाधित होने के आसार नजर आ रहे हैं। केदारपुरी के चारों की पहाड़ियां वासुकी ताल, भैरव घाटी, मेरु-सुमेरु पर्वत, गरुड़ चट्टी सहित केदारनाथ मंदिर परिसर भी बर्फ से ढका हुआ है।

पुलिस चौकी सहित तीर्थ पुरोहितों के घर बर्फ से पटे पड़े हैं। वहीं धाम में विद्युत, दूरसंचार के उपकरण भी ठप हैं। धाम में शंकराचार्य समाधि स्थल, आस्था पथ, अराइवल प्लाजा, पुल सहित अन्य पुनर्निर्माण कार्य स्थल भी हिमखंडों में दबे हैं। इस वर्ष अत्यधिक बर्फबारी होने से पुराने सभी रिकॉर्ड टूट चुके हैं। बीते दिनों वुड स्टोन कंपनी की एक टीम केदारनाथ धाम में पुनर्निर्माण स्थलों का जायजा लेने पहुंची थी किन्तु अत्यधिक बर्फ होने के कारण टीम लिंचोली वापस आ गई। 

वर्जन

वुड स्टोन की एक टीम धाम में पुनर्निर्माण कार्य शुरू करने की संभावनाएं देखने पहुंची। मंदिर परिसर सहित सम्पूर्ण केदारपुरी बर्फ से पटी पड़ी है। इसके चलते टीम को वापस लौटना पड़ा। हर रोज केदारधाम में बर्फबारी हो रही है।
मनोज सेमवाल, वुड स्टोन कॉन्स्ट्रक्शन कंपनी

comments

.
.
.
.
.