Monday, Mar 30, 2020
uttrakhand, lockdown, trivendra singh rawat

लोगों की आवाजाही से संक्रमण का खतरा बढ़ा

  • Updated on 3/24/2020

देहरादून/डेस्क। उत्तराखंड में लॉकडाउन के बावजूद विभिन्न घरों में साफ-सफाई और खाना बनाने और बर्तन धोने का काम करने वालों की आवाजाही बे-रोकटोक जारी है। इसके चलते कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए उठाए गए एहतियाती कदम विफल होने की आशंका है।

राजधानी देहरादून की बात करें, तो यहां हजारों घरों में सुबह-शाम झाडू़-पोंछा करने, खाना बनाने और बर्तन धोने के लिए ‘मेड’ लगी हैं। कुछ पुरूष भी यह काम करते हैं। डालनवाला, वसंत विहार, इंदिरा नगर, राजपुर, बल्लूपुर, राजपुर रोड, बंजारावाला, ईसी रोड, रेसकोर्स, जनरल महादेव सिंह रोड की कॉलोनियों, जाखन समेत विभिन्न मुहल्लों, पॉश एरिया और सोसाइटीज में घरेलू कामकाज करने वालों की आवाजाही अब भी जारी है।

हालांकि, कुछ घरों और सोसाइटीज में इन्हें फिलहाल छुट‍्टी दे दी गई है। मगर, काफी इलाकों ये अभी भी काम पर आ रहे हैं। यह जरूर है कि कुछ जगह इन्हें बाकायदा सेनेटाइजर के इस्तेमाल के बाद ही घरों में काम करने दिया जा रहा है। बावजूद इसके, संक्रमण और उसके प्रसार का खतरा इनके माध्यम से बना हुआ है।

सख्त हुआ लॉकडाउन
बीते सोमवार को आवश्यक वस्तुओं के लिए छूट की आड़ में जिस तरह देहरादून समेत पूरे राज्य में लॉकडाउन की धज्जियां उड़ाई गईं, उसे देखते हुए आज काफी सख्ती बरती जा रही है। सरकार की ओर से सुबह सात बजे से 10 बजे तक ही आवश्यक वस्तुओं की खरीदारी की छूट दी गई थी। बैंक और एटीएम भी इसी अवधि तक खुले रहे। 10 बजते ही पुलिस ने सड़कों-मुहल्लों में लोगों को खदेड़ना शुरू कर दिया। कुछ स्थानों पर लोगों को लठियाया भी गया। इसके चलते बाजार पूरी तरह बंद हैं और अन्य दिनों के मुकाबले आवाजाही भी कम है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.