Wednesday, Oct 16, 2019
uttrakhand news ravan news

धू-धूकर जले रावण, मेघनाद, कुंभकरण के पुतले

  • Updated on 10/8/2019

देहरादून/ब्यूरो। विजयादमशी पर रावण का अहंकार चूर-चूर हो गया। जय श्री राम के नारों के साथ रावण, मेघनाद और कुंभकरण के पुतले धू-धू कर जले। एक तरफ, पुतले जल रहे थे, तो दूसरी तरफ लोग उल्लास मनाते हुए मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम की जय जयकार कर रहे थे। विजयादशमी पर शहर भर में विभिन्न स्थानों पर दशहरा मेला आयोजित किया गया। शाम को मेला स्थानों पर बुराई के प्रतीक रावण सहित मेघनाद और कुंभकरण के पुतले जलाए गए। 
 

बन्नू बिरादरी दशहरा मेला समिति की ओर से परेड ग्रांउड में दशहरा मेला आयोजित किया गया। दोपहर दो बजे काली मंदिर से दशहरा शोभायात्रा शुरू हुई। गोपीनाथ मंदिर, अंसारी रोड, पल्टन बाजार, राजपुर रोड, ऐश्लेहॉल होते हुए शोभायात्रा परेड ग्राउंड पहुंची। यात्रा में राम (अंकित शर्मा सैंकी), लक्ष्मण (मनीष सिसौदिया), हनुमान (वेद प्रकाश शर्मा) यात्रा में सबसे आगे रथ पर सवार थे। परेड ग्राउंड पहुंचने के बाद पहले महावीर हनुमान ने लंका दहन किया। इसके बाद शाम छह बजे पुरुषोत्तम राम ने पुतले को तीर मारकर रावण का वध (सांकेतिक) किया। तीर लगते ही रावण का पुतला जलने लगा। इसके साथ ही मेघनाद और कुंभकरण के पुतले भी जलने लगे। ग्राउंड में भारी संख्या में भीड़ रावण दहन का दृश्य देखने पहुंची थी। इस अवसर पर आयोजन समिति के प्रधान हरीश बिरमानी, दशहरा कमेटी के प्रधान संतोख नागपाल, मीडिया प्रभारी संजीव विज, प्रवेश अरोड़ा, विजय सिंदूरिया, ऋषि अरोड़ा, दीपक ग्रोबर आदि मौजूद थे।

मुख्यमंत्री ने समिति को दिए डेढ़ लाख रुपये

परेड ग्राउंड दशहरा मेले में मुख्य अतिथि के रूप में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने भाग लिया। उन्होंने समिति को डेढ़ लाख रुपये आर्थिक सहायता देने की घोषणा करते हुए कहा कि रावत महाज्ञानी होने के बाद भी अहंकार के कारण राक्षस कहलाया और प्रतिवर्ष बुराई का प्रतीक मारा जाता है। वहीं, राम ने धर्म का अनुसरण किया। वह मर्यादा पुरुषोत्तम के रूप में पूजे जाते हैं। हमें भी राम का अनुसरण करते हुए सच्चाई और अच्छाई के मार्ग पर चलना चाहिए। इस अवसर पर मेयर सुनील उनियाल गामा, विधायक खजान दास, गणेश जोशी आदि मौजूद थे।

मांस की दुकानें खुली होने पर जताया रोष

दशहरा मेले पर मच्छी बाजार से जब झांकी निकली, तो मांस की दुकानें खुली थीं। बाजार से निकलती मर्यादा पुरुषोत्तम की झांकी और दुकानों में टंगे थे मांस के टुकड़े। इससे झांकी में शामिल लोगों ने रोष जताया। लोगों ने आरोप लगाया कि प्रशासन ने झांकी और उनकी भावनाओं को आहत किया है। प्रशासन को पता था कि बाजार में झांकी निकलेगी तो कम से कम झांकी के समय मांस की दुकानें बंद करवानी चाहिए थी।

 

झंडा जी तालाब में नहीं बनी लंका, हुआ डिजिटल लंका दहन

देहरादून। रामलीला समिति झंडा बाजार की ओर से झंडा जी तालाब में इस साल लंका नहीं बनाई गई। समिति ने डिजिटल लंका दहन कर दशहरा मनाया। लंबे समय से चल आ रही परंपरा टूटने पर लोग असहज नजर आए।

झंडा बाजार के तालाब में लंबे समय से रामलीला समिति दशहरे के दिन लंका बनाती रही है। यहां विजयादशमी पर रावण का पुतला नहीं जलाया जाता, बल्कि लंका दहन किया जाता है। महावीर हनुमान तालाब में बनी लंका दहन करते थे। इस दौरान तालाब के चारों ओर दर्शकों की भारी भीड़ जमा रहती है। लेकिन, इस वर्ष विजयादशमी पर तालाब सूखा पड़ा था। समिति ने लंका दहन के लिए साउंड, लाइट एंड लेजर कार्यक्रम रखा। इसे ईको फ्रेंडली दशहरा नाम दिया गया। स्क्रीन पर ही लोगों ने लंका दहन देखा। इस अवसर पर मुख्य अतिथि पुलिस महानिदेशक (लॉ एंड आर्डर) अशोक कुमार, कार्यक्रम संयोजक घनश्याम शर्मा, रामलीला समिति के अध्यक्ष अरविंद गोयल, महामंत्री सोम प्रकाश शर्मा, राकेश महेंद्रू, हर्ष अग्रवाल, शोभित मांगलिक, तरुण शर्मा, दयालचंद गुप्ता, महेश गर्ग आदि मौजूद थे।

 

इंद्रानगर में धू-धू जला 62 फीट का रावण पुतला

 

देहरादून। सजग सांस्कृतिक समिति की ओर से इंद्रानगर में दशहरा मेले का आयोजन किया। यहां रावण का 62 फीट ऊंचा पुतला बनाया गया था। शाम को मर्यादा पुरुषोत्तम राम की जय जयकार के साथ रावण का पुतला जलाया गया। इससे पूर्व सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए।

दोपहर में पंडित एमडी पब्लिक स्कूल से दशहरा शोभायात्रा निकाली गई। लवली मार्केट, अनुराग चौक होते हुए यात्रा मेला स्थल पर पहुंची। शोभायात्रा में शामिल शानदार झांकियों ने लोगों का मन मोह लिया। शाम को नंदा राजजात पर विशेष प्रस्तुति को दर्शकों ने खूब पसंद किया। रावण दहन के साथ आतिशबाजी भी की गई। इस अवसर पर समिति के संरक्षक राजेंद्र पंत, कर्नल मदन मोहन चौबे, योगेंद्र पुंडीर, अध्यक्ष पवन शर्मा, सचिव उदयवीर मलिक, चंद्रमोहन गौड़, संजीव जैन आदि मौजूद थे।

 

जय श्री राम के नारों ने गुंजायमान रहा मेला स्थल

देहरादून। हिंदू नेशनल कॉलेज में आयोजित दशहरा मेला में भी शाम को रावण के पुतले का दहन किया गया। मेला स्थल जय श्री राम के नारों से गुंजायमान रहा। मेले में गायक जुबिन नौटियाल ने भी प्रस्तुति दी। इस अवसर पर आयोजक भाजपा नेता नरेश बंसल ने कहा कि वर्तमान में राम के विचारों को अपनाने की जरूरत है। वहीं, प्रेमनगर रामलीला मैदान में 55 फीट ऊंचे रावण का पुतला फूंका गया। साथ ही भव्य आतिशबाजी की गई। इस अवसर पर संजीव पुंज, रवि भाटिया, भूषण भाटिया, सन्नी पुंज, सूरज प्रकाश, राजेश शर्मा, विनय भाटिया, सुभाष माकिन आदि मौजूद थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.