Wednesday, Dec 01, 2021
-->
vaccine cannot be given to 10th-12th students govt told reason to delhi hc kmbsnt

10वीं-12वीं के बच्चों को अभी नहीं लगाई जा सकती वैक्सीन, सरकार ने Delhi HC को बताई वजह

  • Updated on 6/5/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कोरोना की दूसरी लहर के बीच देशभर में कोरोना वैक्सीनेशन पर जोर देने की बात कही जा रही है। बच्चों की शिक्षा पर कोरोना के बुरे असर के चलते बच्चों के वैक्सीनेशन की मांग भी उठने लगी है। वहीं इस बीच 14 से 17 साल के टीनएजर्स को वैक्सीन लगाने से जुड़ी याचिता पर केंद्र सरकार ने हाईकोर्ट में हलफनामा दाखिल किया है। इसमें केंद्र सरकार ने कहा है कि बच्चों का वैक्सीनेशन अभी नहीं किया जा सकता।

सरकार का कहना है कि अभी बच्चों पर वैक्सीन का ट्रायल पूरा नहीं हुआ है। इसके लिए प्रक्रिया जारी है। सरकार ने अपने हलफनामे में कहा है कि ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने स्वस्थ बच्चों पर परीक्षण के लिए भारत बायोटेक को अनुमति दी है। ये अनुमति 12 मई को ही दी गई है। अभी इस पर काम चल रहा है। जब तक बच्चों में वैक्सीन का ट्रायल पूरा नहीं हो जाता तब तक बच्चों का टीकाकरण शुरू नहीं किया जा सकता है। 

कोर्ट ने खारिज की 5जी तकनीक के खिलाफ जूही चावला की याचिका, लगाया जुर्माना

बोर्ड परीक्षा देने वाले बच्चों के वैक्सीनेशन की मांग 
बता दें कि ये हलफनामा सरकार की ओर से उस याचिका के जवाब में दिया गया है जिसमें बोर्ड परीक्षा देने वाले बच्चों के वैक्सीनेशन की मांग की गई थी। कोरोना के खतरे के चलते 10वीं की बोर्ड परीक्षा केंद्र सरकार द्वारा पहले ही रद्द कर दी गई थी, इसके बाद 12वीं की परीक्षा पर लंबे समय तक असमंजस की स्थिति बने रहने के बाद हाल ही में केंद्र सरकार ने 12वीं की बोर्ड परीक्षा को भी रद्द कर दिया है। 

कोरोना संकट के बीच मोदी सरकार ने 6 पारंपरिक पनडुब्बियों के निर्माण को दी मंजूरी

तीसरी लहर बच्चों के लिए खतरनाक 
जिस समय 12वीं की बोर्ड परीक्षा को लेकर स्थिति साफ नहीं थी तब 10वीं और 12वीं के बच्चो के टीकाकरण की मांग उठी थी। वहीं अब कोरोना की तीसरी लहर के खतरे को देखते हुए भी बच्चों के वैक्सीनेशन की मांग जोर पकड़ रही है। बच्चों के लिए कोरोना की तीसरी लहर को जानलेवा बताया जा रहा है। विशेषज्ञों का मानना है कि इस लहर में सबसे अधिक खतरा बच्चों को होगा। ऐसे में बच्चों का वैक्सीनेशन जरूरी हो जाता है। हालांकि ये संभव ट्रायल के बाद ही हो सकेगा। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.