Saturday, Mar 23, 2019

अस्पताल के कचरे से सब्जियां उगाने वाला व्यक्ति

  • Updated on 2/28/2019

ठाणे के रेनी वर्गीज एक उदाहरण बने हैं। बेकार चीजों से सब्जियां उगाने के उनके अथक प्रयासों के कारण उन्हें बहुत शोहरत मिली है, जिसमें उन्होंने राष्ट्रीय स्वच्छता अभियान अवार्ड भी जीता है।

इस भारी-भरकम अभियान की शुरूआत उनके घर की छत पर की गई जहां उनके उपजाऊ विचारों ने फलना-फूलना शुरू किया। अब उनकी नई कृषि भूमि, जिस अस्पताल में वह काम करते हैं, उसका पिछवाड़ा, लगभग 150 रोगियों को भोजन उपलब्ध करवाती है।

वर्गीज ने बाई जेरबाई वाडिया हॉस्पिटल फॉर चिल्ड्रन द्वारा फैंके गए गीले कचरे को कम्पोस्ट में बदलने में महारत हासिल कर ली है। हरित परियोजना का आरम्भ 29 अगस्त 2017 को बाढ़ के उत्तर के तौर पर हुआ था, जिसने विजय गार्डन सोसाइटी स्थित उनके आवासीय परिसर की बाहरी दीवार गिरा दी थी तथा उनके घर में मिट्टी के तोदे बन गए थे।

वर्गीज ने बताया कि उन्होंने मिट्टी को पेंट के खाली ड्रमों में एकत्र कर लिया और भिंडी तथा चौलाई आदि जैसी सब्जियों के बीज बो दिए। ड्रमों से रोज कम से कम 6 परिवारों के भोजन हेतु पर्याप्त फसल पैदा होती थी।

उन्होंने बताया कि अस्पताल प्रतिदिन 50-55 किलो गीला कचरा पैदा करता है। सूखे कचरे को नगर निगम के साथ-साथ एक गैर-सरकारी संगठन (एन.जी.ओ.) को भेज दिया जाता है, जो उसे रिसाइकिल करता है। गीले कचरे को वे कम्पोस्ट में डाल देते हैं जो आखिरकार खाद बन जाता है।

वर्गीज ने बताया कि वे मौसमी फसलें बीजते हैं और इस फार्म में उगाई गई सब्जियां 150 लोगों के एक बार के खाने के लिए काफी होती हैं। 7000 वर्गफुट क्षेत्र के फार्म में  भिंडी, पालक, कद्दू, लहसुन, हल्दी, टमाटर, अंजीर, अमरूद, शरीफा, अन्नानास, नींबू आदि उगाए जाते हैं।

19 फरवरी को अस्पताल को स्वास्थ्य/स्वच्छता की श्रेणी में प्रतिष्ठित राष्ट्रीय स्वच्छता अभियान अवार्ड प्रदान किया गया। रेनी वर्गीज ने बताया कि यह काफी हैरानीजनक था क्योंकि एक आगंतुक, जिसने अचानक हमारे अस्पताल के फार्म को देख लिया था, ने अवार्ड के लिए हमारे नाम का प्रस्ताव किया था।                                                                            ---एन. सिंह

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख (ब्लाग) में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं। इसमें सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं। इसमें दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार पंजाब केसरी समूह के नहीं हैं, तथा नवोदय टाइम्स (पंजाब केसरी समूह) उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.