Wednesday, Sep 28, 2022
-->
vehicles not allowed in chandni chowk fined up to 20 thousand rs kmbsnt

चांदनी चौक जाने वालों के लिए खास खबर- गाड़ी लेकर गए तो लगेगा 20 हजार तक का जुर्माना

  • Updated on 6/17/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। चांदनी चौक रोड पर गाड़ियों का शोर और धुआं अब पूरी तरह से खत्म हो जाएगा। रोड पर सिर्फ पैदल चलने वाले ही नजर आएंगे। रोड के बीचो-बीच एक आद पैदल रिक्शे पर बैठे बुजुर्ग और महिला नजर आ सकते हैं, लेकिन किसी भी तरह के वाहन को यहां लाने की मंजूरी नहीं होगी। 

चांदनी चौक के मुख्य मार्ग के सौंदर्यीकरण के बाद उपराज्यपाल ने इस मार्ग पर लाल किले से फतेहपुर मस्जिद और आसपास के क्षेत्रों में पूरे दिन से लेकर शाम के समय तक वाहनों की आवाजाही पर पूरी तरह से रोक लगा दी है। इस इलाके में अब सुबह 9:00 बजे से लेकर रात 9:00 बजे तक वाहनों का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा।

जानें 10-15 साल पुराने वाहनों पर कार्रवाई को लेकर क्या बोले परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत

देना पड़ सकता है ₹20000 तक का जुर्माना
इस बारे में उपराज्यपाल अनिल बैजल के निर्देश पर परिवहन विभाग ने अधिसूचना जारी कर दी है। अगर कोई स्कूटर मोटरसाइकिल या कार लेकर चांदनी चौक रोड पर आता है तो नए मोटर व्हीकल एक्ट के तहत ₹20000 तक का जुर्माना देना पड़ सकता है।

कुछ सड़कों को इस प्रतिबंध से छूट
हालांकि एलजी ने पुलिस उपायुक्त को यह अधिकार दिया है कि वह परिस्थितियों को देखते हुए जरूरत पड़ने पर इस व्यवस्था में बदलाव कर सकते हैं, लेकिन इस बदलाव की अवधि 1 महीने से ज्यादा नहीं हो सकेगी। जारी अधिसूचना में इस इलाके की कुछ सड़कों को इस प्रतिबंध से छूट दी गई है।

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए 5 हजार मेडिकल असिस्टेंट तैयार करेगी केजरीवाल सरकार

सूचनात्मक साइन बोर्ड लगाने के निर्देश
अधिसूचना में प्रतिबंधित और गैर प्रतिबंधित सड़कों की विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई है। साथ ही यह भी बताया गया है कि यह प्रतिबंध आपातकाल वाहन तथा फायर टेंडर, एंबुलेंस, शव वाहन, गर्भवती महिलाओं या ऐसे मरीजों जिन्हें मोटर चालित वाहनों की आवश्यकता है पर लागू नहीं होगा। उपराज्यपाल ने सूचनात्मक साइन बोर्ड लगाने के निर्देश दिए हैं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.