Monday, Oct 25, 2021
-->
very-important-work-related-to-rapid-rail-project-to-be-completed-in-historic-city

ऐतिहासिक शहर में पूरा होने वाला रैपिड रेल प्रोजेक्ट से जुड़ा बेहद जरूरी काम

  • Updated on 9/19/2021

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। दिल्ली से मेरठ के बीच रैपिड रेल का काम तेजी से चल रहा है। दिल्ली से सटे गाजियाबाद में साहिबाबाद से दुहाई के प्राथमिकता खंड के अलावा मेरठ में शताब्दी नगर से मोदीपुरम के बीच भी निर्माण को गति देने के लिए बिजली यूटिलिटि शिफ्टिंग या मोडि़फिकेशन का कार्य अंतिम चरण में पहुच चुका है। जिसके तहत लगभग 18 किमी के क्षेत्र मे 33केवी, 11 केवी और 0.4 केवी की लगभग 120 किलोमीटर से ज्यादा लंबी, डबल सर्किट लाइन मुख्य सडक़ के दोनों ओर जमीन के नीचे भूमिगत बिछाई गयी है। इसके अलावा इसी स्ट्रेच में  50 ट्रांसफॉर्मर भी शिफ्ट किए जा चुके है और अभी तक यूटिलिटी शिफ्टिंग का लगभग 95 फीसदी कार्य पूरा किया जा चुका है।

एनसीआरटीसी के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पुनीत वत्स ने बताया कि आरआरटीएस निर्माण के क्रम में एनसीआरटीसी कॉरीडोर के रास्ते में आने वाले बिजली की हाई टेंशन लाईनों और ट्रांसफार्मर को शिफ्ट या मोड़ीफ़ाई भी करता जा रहा है। इस प्रक्रिया में पुराने सिंगल सर्किट लाइन के बदले डबल सर्किट भूमिगत लाइन बिछा रहा है और जहां भी पुरानी सर्किट की एक से ज्यादा लाइने बिछी हैं। वहां प्रति लाइन डबल सर्किट बिछा रहा है। इससे इन बिजली की हाई टेंशन लाईनों व ट्रांसफार्मर की क्षमता भी बढ़ रही है। 

उन्होंने बताया कि एनसीआरटीसी द्वारा बिछाये जा रहे भूमिगत वितरण नेटवर्क के दो महत्वपूर्ण फ़ायदे है। सबसे पहले इलेक्ट्रसिटी ब्रेकडाउन कम से कम होगा। ओवरहेड विद्युत लाइन बहुत बार तेज हवा या आंधी आने से क्षतिग्रस्त हो जाते हैं और लाइन में फाल्ट भी आ जाते है। भूमिगत केबल होने से ब्रेकडाउन व अन्य फाल्ट से लगभग छुटकारा मिल जाता है और क्षेत्र को निर्बाध बिजली की आपूर्ति होती रहती है। दूसरा, भूमिगत विद्युत केबल होने से प्रति वर्ष बिजली चोरी और ब्रेकडाउन से होने वाले राजस्व क्षति में कमी आएगी। बिजली की 24&7 उपलब्धता से मेरठ में निवेश, व्यापार व उद्योग विस्तार करने का बेहतर माहौल बनेगा। जिससे उपभोक्ता और उत्पादक दोनों को लाभ होगा। लाइन को कम रखरखाव की जरूरत होती है और दुर्घटना की संभावना को भी कम करता है। 

किसी भी रेल आधारित इनफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट के लिए इतने बड़े स्तर पर बिजली व उससे जुड़े उपकरणों की शिफ्टिंग या मोडि़फिकेशन का कार्य मेरठ शहर में पहली बार किया जा रहा है । पूरा होने पर उन्नत इनफ्रास्ट्रक्चर का लाभ लंबे समय तक मेरठ की जनता को मिलता रहेगा।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.