Monday, Jan 21, 2019

राम मंदिर: VHP की धर्म सभा पर खुफिया एजेंसियों का अलर्ट, बिगड़ सकता है सांप्रदायिक सौहार्द

  • Updated on 12/9/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। उत्तर प्रदेश के अयोध्या में श्री राम मंदिर निर्माण के लिए केंद्र सरकार, विपक्षी दलों के साथ ही संसद पर दबाव बनाने के लिए विश्व हिंदू परिषद आज यानि 9 दिसंबर को दिल्ली के रामलीला मैदान पर विराट धर्म सभा शुरू हो गई है। सभा में लाखों राम भक्तों के जुटने का दावा किया गया है, जो अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर हुंकार भरेंगे।

खुफिया एजेंसियों का अलर्ट, बिगड़ सकता है सांप्रदायिक सौहार्द
खुफिया एजेंसियों ने पुलिस को अलर्ट किया है कि दक्षिणपंथी संगठन से जुड़े लोग धर्मसभा के दौरान मुस्लिम बहुल इलाकों में बाइक रैली निकालने की सोच रहे हैं। इससे सांप्रदायिक सौहार्द बिगड़ सकता है। खुफिया एजेंसियों ने पुलिस को बताया है कि बीएचपी या उससे जुड़े संगठनों के कार्यकर्ता जामिया, सीलमपुर जाफराबाद और बाटला हाउस जैसे तमाम इलाकों में बाइक रैली निकालने की कोशिश में हैं। 

इस पर पुलिस का कहना है कि बाइक रैली के संबंध में किसी भी संगठन द्वारा कोई परमिशन नहीं ली गई है। वीएचपी कार्यक्रम के लिए सिर्फ रामलीला मैदान की परमिशन दी गई है।

पांच लाख से अधिक लोगों के जुटने का दावा
सभा में पांच लाख लोग से अधिक लोगों के जुटने की बात कही गई है। इनमें दिल्ली के विभिन्न इलाकों के अलावा दिल्ली-हरियाणा और दिल्ली -उत्तर प्रदेश से जुटे इलाके शामिल होंगे। बताया जा रहा है कि एनसीआर में शामिल इलाकों रोहतक से लेकर मेरठ तक और फरीदाबाद से लेकर ग्रेटर नोएडा शहर तक से बड़ी संख्या में लोग रविवार की प्रात: रामलीला मैदान पहुंच रहे हैं। यहां पर आने वाले लोग लाल किला और राजघाट की तरफ से पैदल ही सभा स्थल की ओर कूच कर रहे हैं। इस धर्मसभा में राम मंदिर निर्माण के लिए केन्द्र सरकार पर विधेयक लाने का दबाव बनाया जाएगा। 

सुरक्षा के कड़े प्रबंध
यह धर्मसभा इसलिए खास मानी जा रही है क्योंकि 11 दिसम्बर से संसद का सत्र शुरू हो रहा है और इसके आधार पर सरकार को संसद में विपक्ष के दूसरे मुद्दों को काटने का एक आधार मिल सकता है। सुरक्षा की दृष्टि से सभा स्थल के आसपास के इलाकों में सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं। विभिन्न हिन्दू संगठनों द्वारा आयोजित विराट धर्म सभा की तैयारियों के सिलसिले में विहिप के उपाध्यक्ष चंपत राय ने अपने पदाधिकारियों के साथ शनिवार को भी रामलीला मैदान पहुंचकर स्थिति का निरीक्षण किया। विहिप के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष चंपत राय ने कहा कि यह मुकदमा केवल 25 साल का नहीं है बल्कि पांच सौ साल पुराना है फिर भी हिन्दू समाज ने हिम्मत नहीं हारी है। 

जगह-जगह सभाएं
प्रचीन कालकाजी मंदिर के महन्त सुरेन्द्रनाथ अवधूत महाराज ने शनिवार को भी कई इलाकों में रामभक्तों की सभाएं आयोजित कर ज्यादा से ज्यादा लोगों को रामलीला मैदान पहुंचने का आह्वान किया। दिल्ली के दूरदराज इलाकों से आने वाले राम भक्त बसों में बैठकर सभास्थल पहुंचेंगे।  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.