Monday, Apr 12, 2021
-->
vhp leader champat rai says ram temple construction will begin after makar sankranti rkdsnt

मकर संक्रांति के बाद मंदिर निर्माण का काम शुरू होगा : VHP नेता चंपत राय

  • Updated on 1/1/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के महासचिव और विश्व हिन्दू परिषद के उपाध्यक्ष चंपत राय ने शुक्रवार को कहा कि मकर संक्रांति से मंदिर निर्माण का कार्य शुरू हो जायेगा। राय ने कहा कि मंदिर को मजबूत एवं दीर्घायु बनाने के लिए देश के बड़े इंजीनियर और वैज्ञानिकों की टीम कार्य कर रही है। उल्लेखनीय है कि चंपत राय संत समिति के बैठक में भाग लेने वाराणसी पहुंचे थे। 

CDSO कमेटी ने कोविशील्ड के इमरजेंसी इस्तेमाल को दी मंजूरी

विश्व हिन्दू परिषद के कार्यालय में पत्रकारों को संबोधित करते हुए राय ने कहा कि मन्दिर को मजबूत बनाने के लिए मुंबई, गुवाहाटी एवं चेन्नई स्थित भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों के विशेषज्ञ लगे हुए हैं। मकर संक्रांति तक मंदिर का नक्शा बन कर तैयार हो जाएगा। उन्होंने बताया कि मंदिर 360 फुट लंबा और 235 फुट चौड़ा होगा। मंदिर के शिखर की ऊंचाई 161 फुट होगा । उन्होंने बताया कि मंदिर दर्शन करने जाने के लिए भक्तों को 32 सीढिय़ों से करीब साढ़े सोलह फुट ऊपर चढऩा होगा। 

अखिलेश यादव बोले- भाजपा झूठ पर शोध करती और नफरत फैलाती है

राय ने बताया कि विशेषज्ञों को यह समझ नहीं आ रहा कि देश भर से आ रहे चांदी का उपयोग कहां किया जाय। उन्होंने बताया कि मंदिर के नीवं में लोहे की जगह ताँबे के कील पत्तियों का प्रयोग किया जाएगा। उन्होंने बताया कि कहीं से भी सोने की ईंट नहीं आयी है, चांदी बहुत आ रही। राय ने बताया कि लोग धन का दान करें, धन संग्रह अभियान 14 जनवरी से शुरू किया जाएगा जो 27 फरवरी तक चलेगा। लाखों कार्यकर्ता घर घर जा कर धन संग्रह करने का काम करेंगे।

रैलियों पर पथराव के पीछे पीएफआई का हाथ होने का संदेह
अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर जागरूकता फैलाने के लिए पश्चिमी मध्यप्रदेश में निकाली गईं वाहन रैलियों पर पथराव और उपद्रव का मामला तूल पकड़ रहा है। इस बीच, विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने इन हिंसक घटनाओं के पीछे पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) नाम के संगठन की साजिश होने का संदेह जताया है। 

कृषि कानूनों पर योगेंद्र यादव बोले- अभी तो पूंछ निकली है, हाथी निकलना अभी बाकी है

विहिप के मालवा प्रांत (इंदौर-उज्जैन संभाग) के सचिव सोहन विश्वकर्मा ने शुक्रवार को यहां संवाददाताओं से कहा, 'राम मंदिर की रैलियों पर पथराव और उपद्रव की घटनाएं साजिश के तहत सामने आई हैं। इसमें पीएफआई की भूमिका हो सकती है।' विश्वकर्मा ने पीएफआई को 'प्रतिबंधित संगठन सिमी का बदला हुआ रूपÞ बताते हुए दावा किया कि मालवा अंचल में पीएफआई सक्रिय हो रहा है। 

पूर्व नौकरशाहों ने यूपी को बताया ‘‘घृणा की राजनीति का केंद्र’’, गिनाए सिलसिलेवार मुद्दे

उन्होंने कहा, 'जिस प्रकार संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) का विरोध कर रहे लोगों को गुप्त रूप से धन मुहैया कराया गया था, उसी तरह राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण में बाधा खड़ी करने के लिए पश्चिमी मध्यप्रदेश में साजिश के तहत पथराव कराया जा रहा है।' विश्वकर्मा ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण को लेकर जागरूकता फैलाने के अभियान को निशाना बनाते हुए पिछले 10 दिनों में उज्जैन, इंदौर, मंदसौर और खरगोन जिलों में ङ्क्षहसा की अलग-अलग घटनाएं सामने आई हैं। 

राबड़ी देवी बोलीं- बिहार में अब नीतीश कुमार का आदेश नहीं चलता, भाजपा हावी

मीडिया से बातचीत से पहले, विहिप के प्रतिनिधिमंडल ने शहर के देवी अहिल्याबाई होलकर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात की और उन्हें इन ङ्क्षहसक घटनाओं के खिलाफ ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में मांग की गई है कि इन घटनाओं में शामिल लोगों के खिलाफ गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम कानून (यूएपीए) के तहत प्राथमिकी दर्ज की जानी चाहिए। चौहान, वैश्विक आवासीय प्रौद्योगिकी चुनौती-भारत (जीएचटीसी-भारत) के लाइट हाउस प्रोजेक्ट के तहत आयोजित कार्यक्रम में इंदौर से वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये शामिल हुए।

केजरीवाल सरकार ने नए साल के मौके पर पानी बिल माफी योजना की मियाद बढ़ाई

 

 

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

 


 

comments

.
.
.
.
.