Thursday, May 06, 2021
-->
vhp-meeting-to-discuss-ram-temple-issue-from-today

राम मंदिर को लेकर विहिप की महत्वपूर्ण बैठक आज से, मोदी सरकार पर बनाएगी दवाब

  • Updated on 6/19/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केंद्र में मोदी सरकार(modi govt) के गठन के बाद से अयोध्या(ayodhya) में राम मंदिर(ram temple) बनाने को लेकर सरकार पर लगातार दवाब बनाने के लिए अब विहिप सामने आया है। आज से विश्व हिंदू परिषद(vhp) उत्तराखंड के हरिद्वार में दो दिवसीय चर्चा का आयोजन किया है। जिसमें राम मंदिर के अलावा, जम्मू और कश्मीर(jammu & kashmir) से धारा 370 और 35A,गोरक्षा पर मोदी सरकार से ठोस कदम उठाने को कहेगी।

विहिप की सालाना बैठक
मालूम हो कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़ी विहिप की हर साल केंद्रीय मार्गदर्शक मंडल बैठक आयोजित की जाती है।जिसमें देश के सामने ज्वलन्त समस्याओं पर सरकार की नीति पर व्यापक विचार-विमर्श किया जाता है।इस बैठक में देश भर से हिंदू सन्त भी इकठ्ठा होते है। धर्म से जुड़ी मुद्दों पर भी चर्चा विस्तार से की जाती है।

वन पोल वन नेशन' पर PM ने बुलाई मीटिंग, ममता- नायडू का इनकार, राहुल पर सस्पेंस

राम मंदिर पर होगी महत्वपूर्ण चर्चा 
यह बैठक इस लिए भी महत्वपूर्ण मानी जा रही है कि देश में हाल ही में लोकसभा चुनाव में भाजपा की प्रचंड जीत से मोदी सरकार फिर से वापसी की है। अयोध्या में राम मंदिर को लेकर भाजपा और विहिप की राय एक-जैसी है। दोनों संगठन संघ से पोषित होती है। संघ की नीति का प्रभाव दोनों संगठनों पर देखा जा सकता है। ऐसे में राम मंदिर के जल्द निर्माण को लेकर मोदी सरकार से विहिप मांग कर सकती है। ऐसे समय में जब लोकसभा में नई सरकार काम-काज शुरु करेगी तो इस बैठक की गूंज लोकसभा के सत्र में भी सुनी जा सकती है। 

ओम बिड़ला निर्विरोध चुने गए लोकसभा के नए स्पीकर, PM ने दी बधाई
 पहले शिवसेना ने भी उछाला राम मंदिर का मुद्दा 
इससे पहले अभी हाल ही में भाजपा की सहयोगी शिवसेना ने भी अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण को लेकर मोदी सरकार से जल्द निर्णय लेने को कहा है। अभी हाल ही में शिवसेना सुप्रीमो उद्धव ठाकरे ने अपने पार्टी के 18 सांसदों के साथ अयोध्या पहुंचे थे। वहां उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में कहा कि मोदी है तो मुमकिन है। उनके इस नारे को पिछले दौरे से अलग माना गया जिसमें उन्होंने नवंबर में भाजपा की राम मंदिर नहीं बनाने को लेकर खिंचाई की थी। लेकिन राम मंदिर को लेकर लगातार मोदी सरकार पर दवाब बनाने की कोशिश के तहत उध्दव के यात्रा को इससे जोड़कर देखा गया।     

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.