Monday, Dec 09, 2019
vhp-wants-to-include-amit-shah-in-ram-mandir-trust

राम मंदिर ट्रस्ट में अमित शाह को शामिल कराना चाहती है विश्व हिंदू परिषद

  • Updated on 11/12/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। केंद्र सरकार ने राम मंदिर (Ram Mandir) निर्माण के लिए सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) द्वारा प्रस्तावित ट्रस्ट बनाने की कवायद शुरु कर दी है। इसी बीच मंदिर आंदोलन की शुरुआत करने वाली विश्व हिंदू परिषद (VHP) गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) को भी ट्रस्ट में शामिल करवाना चाहती है।

प्रधानमंत्री की तस्वीर के दुरुपयोग पर होगी जेल, 5 लाख तक का जुर्माना

राम मंदिर (Ram Mandir) निर्माण के लिए प्रस्तावित ट्रस्ट के जरिए भारतीयता का संदेश देने की प्रधानमंत्री की इच्छा के लिए सरकार को लंबी माथापच्ची करनी पड़ सकती है। दरअसल, मंदिर आंदोलन की अगुआ विश्व हिंदू परिषद (VHP) की मांग है कि अमित शाह (Amit Shah) को भी मंदिर ट्रस्ट में शामिल की जाए। गौरतलब है कि सोमवार को विहिप ने सरकार के किसी प्रतिनिधि को शामिल न करने की अपील की थी।

शिवसेना के NDA छोड़ने पर बोले गिरिराज, आज कराह रहे होंगे बाला साहेब ठाकरे

ट्रस्ट में किसी मंत्री को न रखने की, की थी वकालत
सोमवार को विहिप के अंतरराष्ट्रीय उपाध्यक्ष और राम मंदिर (Ram Mandir) से जुड़े मुकदमे में अहम भूमिका निभाने वाले चंपत राय ने कहा कि ट्रस्ट पर सरकार से बात नहीं हुई है, लेकिन हमारा मानना है कि उसमें मंत्रियों या अफसरों को शामिल नहीं किया जाना चाहिए। हम नहीं चाहते कि मंदिर निर्माण की निरंतरता में अधिकारियों के तबादले या मंत्रियों के पद से हटने से बाधा आए।

पवार के पेंच से उद्धव को सीएम बनने के लिये करना पड़ सकता है इंतजार

विश्व हिंदू परिषद (VHP) के अनुसार ट्रस्ट में न तो सरकार का कोई प्रतिनिधित्व हो और न ही कोई वैष्णव हो। शैव और सगुण को मानने वालों के अलावा किसी अन्य लोगों को जगह मिले। उनका मानना है कि पूजा पद्धति को परिवारवाद से बचाने के लिए बद्रीनाथ मॉडल को अपनाया जाना चाहिए, जहां ब्रह्मचारी रहने तक ही पुजारी पद पर रह सकता है।

पीएम मोदी ने जताई थी यह इच्छा
सूत्रों के अनुसार पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने इच्छा जतायी थी कि वैश्विक स्तर पर बड़ा संदेश देने के लिए ट्रस्ट में भारत की विविधतापूर्ण संस्कृति दिखाने के लिए अन्य धर्मों के प्रतिष्ठित लोगों को भी शामिल किया जाए। जिसके लिए रविवार को एनएसए अजित डोभाल ने भी इस बारे में धर्मगुरुओं से बातचीत की थी।

comments

.
.
.
.
.