Thursday, Apr 02, 2020
victims of bhopal gas scandal protest against trump visit

भोपाल गैस कांड की पीड़ित महिलाओं ने डोनाल्ड ट्रंप की यात्रा का किया विरोध

  • Updated on 2/24/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। विश्व की भीषण औद्योगिक त्रासदी 'भोपाल गैस कांड’ (Bhopal disaster) की सैकड़ों पीड़ित महिलाओं ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald trump) के भारत दौरे के विरोध में प्रदर्शन किया। ट्रंप अपनी दो दिवसीय यात्रा पर भारत आए हुए हैं।

Delhi में CAA के विरोध प्रदर्शन में हिंसा के बाद मेट्रो ने बंद किए कई स्टेशन

त्रासदी के पीड़ितों ने ट्रंप की यात्रा का किया विरोध
इस त्रासदी के लिए जिम्मेदार यूनियन कार्बाइड की खरीददार अमेरिका की डाव केमिकल कंपनी के मालिक के खिलाफ भोपाल अदालत का समन तामील करने से अमेरिका सरकार के इनकार को लेकर गैस त्रासदी के पीड़ितों ने ट्रंप की यात्रा का विरोध किया।  जिन चार संगठनों की अगुवाई में यह प्रदर्शन किया गया, उनमें भोपाल गैस पीड़ित स्टेशनरी कर्मचारी संघ, भोपाल गैस पीड़ित महिला पुरुष संघर्ष मोर्चा, भोपाल ग्रुप फॉर इन्फॉर्मेशन एंड एक्शन और ‘डाव-कार्बाइड के खिलाफ बच्चे’ शामिल हैं।

अपने भाषण में इस बात पर राष्ट्रपति ट्रंप ने बटोरी तारीफें तो इस पर होने लगे जमकर ट्रोल

ट्रंप के न्याय विभाग ने समन को तामील कराने से किया था इनकार
भोपाल गैस पीड़ित स्टेशनरी कर्मचारी संघ की अध्यक्ष रशीदा बी ने कहा, 'वर्ष 2016 में जबसे ट्रंप राष्ट्रपति बने, भोपाल जिला अदालत से फरार कातिल यूनियन कार्बाइड के खरीददार डाव केमिकल के मालिक के नाम दो बार समन जारी हुए हैं और दोनों बार ट्रंप के न्याय विभाग ने समन को तामील कराने से इनकार कर दिया।'

CAA विरोध: जाफराबाद हिंसा पर CM केजरीवाल- सिसोदिया ने जताई चिंता, कही ये बात

जहरीली गैस मिल से 20 हजार से ज्यादा लोग मारे गए
भोपाल ग्रुप फॉर इन्फॉर्मेशन एंड एक्शन की रचना ढींगरा ने कहा,'ट्रंप को खुश करने में व्यस्त हमारे प्रधानमंत्री ने भोपाल में कत्लेआम के लिए जिम्मेदार कम्पनियों को अदालत में लाने के बारे में अमेरिका सरकार के सहयोग की बात पर जोर लगाना तो दूर, जिक्र तक नहीं किया है।' गैस पीड़ितों के लिए काम कर रहे संगठनों का दावा है कि 2-3 दिसंबर 1984 की दरम्यानी रात को यूनियन कार्बाइड के भोपाल स्थित कारखाने से रिसी जहरीली गैस मिल से 20 हजार से ज्यादा लोग मारे गए हैं और लगभग 5.74 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.