Sunday, Feb 23, 2020
vijay mallya rebuked by the supreme court said the penny was not returned

विजय माल्या को सुप्रीम कोर्ट की फटकार, कहा- फूटी कौड़ी तक नहीं लौटाई गई

  • Updated on 1/20/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। भगोड़े कारोबारी विजय माल्या (Vijay Mallya) को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court of India) ने कड़ी फटकार लगाई है। कोर्ट ने कहा कि माल्या ने बैंकों से ली गई घनराशि को अभी तक नहीं लौटाया है। जस्टिस्ट नरीमन ने चीफ जस्टिस एसए बोबड़े की अगुवाई वाली पीठ करने के समक्ष टिप्पणी करते हुए कहा कि अभी तक एक फूटी कौड़ी नहीं लौटाई गई। इसके साथ ही उन्होंने माल्या की याचिका पर भी रोक लगा दी।

बैंकों को कर्ज वसूली के लिए विजय माल्या की संपत्तियों के इस्तेमाल की अनुमति

माल्या के मामले से जस्टिस नरीमन हुए दूर
वहीं जस्टिस नरीमन ने मामले से खुद को अलग कर दिया, और अब चीफ जस्टीस मामले की सुनवाई करने वाली नई पीठ का गठन करेंगे।

बता दें कि पिछले साल विजय माल्या ने जून में खुद के स्वामित्व वाली संपत्तियों को जब्त करने पर रोक लगाने के लिए सुप्रीम कोर्टमें एक याचिका दायर की थी। याचिका में तर्क दिया गया कि जांच एजेंसियों द्वारा उसके खिलाफ दायर किए गए आरोप निराधार है और केंद्र ने उसके पैसा लेने क प्रस्ताव से इनकार कर दिया। 

विजय माल्या पर फिर ED ने कसा शिकंजा, करीबी पार्टनर के घर मारे छापे

माल्या पर बैंको का करीब 9 हजार करोड़ रुपये का कर्ज
माल्या पर केस की सुनवाई के दौरान केंद्र के दूसरे सबसे वरिष्ठ कानूनी अधिकारी तुषार मेहता ने जोर देकर कहा था कि माल्य और उनकी कंपनियां सालों से कह रहीं है कि कर्ज चुकाएंगे। मगर अभी एत पैसे का भी भुगतान नहीं किया गया है। 

दरअसल कुल बारह बैंकों ने कर्नाटका हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर ईडी द्वारा जब्त की गई संपत्ति को बैंकों को सौपने की गुहार लगाई है। माल्या ने इसी याचिका के विरोध में कोर्ट में अर्जी लगाई, माल्या पर बैंको का करीब 9 हजार करोड़ रुपये का कर्ज है। 

comments

.
.
.
.
.