Saturday, May 08, 2021
-->
vikas dubey vikas son final greetings encounter richa dubey mbbs sobhnt

विदेश से अचानक विकास दुबे का बड़ा बेटा आया लखनऊ, पुलिस घर जाने पहले अपने साथ ले गई

  • Updated on 7/11/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कानपुर के बिकरू गांव में 8 पुलिसकर्मियों की जघन्य हत्या करने वाले विकास दुबे को यूपी एसटीएफ ने मार गिराया है। उसकी मौत की खबर आने के बाद विदेश में पढ़ने वाला विकास का बेटा भी अपने घर आया है। विकास का बड़ा बेटा अपनी दादी से मिलने के लिए अपने चाचा के घर जा रहा था मगर उससे पहले ही पुलिस ने उसे भी अपनी गिरफ्त में ले लिया।  

थप्पड़ मारने वाले पुलिसकर्मी को विकास ने दी थी धमकी, बोला- UP होता तो घर में आग लगवा देता

कानपुर में हुआ अंतिम संस्कार
इससे पहले विकास का अंतिम संस्कार कानपुर के भैरो घाट में हुआ था। इस दौरान उसकी पत्नी ऋचा वहां मौजूद रही। ऋचा ने पति के अंतिम संस्कार के समय खूब हंगामा मचाया। बता दें विकास के अंतिम संस्कार में उसके पिता ने आने से मचा कर दिया था। 

सुशांत सुसाइड केस में तीनों खान की चुप्पी पर भड़के सुब्रमण्यम स्वामी, कही ये बात

पत्नी ने खोया आपा
दरअसल अपने पति विकास दुबे के अंतिम संस्कार में शामिल होने आई पत्नी ऋचा से वहां मौजूद मीडिया कर्मियों ने सवाल पूछना शुरू किया तो उसने अपना आपा खो दिया और जोर जोर से चिल्ला चिल्ला कर कहने लगी कि जो हुआ सही हुआ, जब ऋचा से पूछा गया कि क्या पुलिस ने एनकाउंटर सही किया तो उसने कहा, जिसने गलती की उसे सजा मिलेगी। इसके बाद जब उससे पूछा कि क्या आप मानती हैं कि आपके पति ने गलती की थी इस पर रिचा ने चिल्लाते हुए 3 बार हां कहां ऋचा ने कहा, उसके साथ सही हुआ यहां से चले जाओ।    

WHO ने जारी किया दिशा-निर्देश, कहा- वेंटिलेशन रहित अस्पतालों में कोरोना फैलने की आशंका अधिक

बेटा कर रहा है MBBS
बताया जा रहा है कि विकास के दो बेटे हैं। उसका बड़ा बेटा विदेश में एमबीबीएस कर रहा है। वह पिता की खबर सुनकर अपनी दादी से मिलने के लिए लखनऊ वाले घर जा रहा था। मगर वहां पहुंचने से पहले ही पुलिस ने उसके बेटे को गिरफ्तार कर लिया। 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.