Sunday, Dec 04, 2022
-->
violence over ''''agneepath'''' scheme in palwal, haryana, internet shutdown many people detained

हरियाणा के पलवल में ‘अग्निपथ‘ योजना को लेकर हिंसा, इंटरनेट बंद, दर्जनभर लोग हिरासत में

  • Updated on 6/16/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केंद्र की सैन्य बलों में अल्प अवधि के लिए भर्ती योजना ‘अग्निपथ’ के खिलाफ युवाओं का प्रदर्शन हरियाणा के पलवल में बृहस्पतिवार को हिंसक हो गया। इस दौरान पथराव और गाडिय़ों में आगकानी की गई। पुलिस ने हालात पर काबू पाने के लिए बल प्रयोग किया और प्रशासन ने इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया है। पुलिस ने करीब एक दर्जन लोगों को हिरासत में लिया है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि ‘अग्निपथ’ योजना के खिलाफ पलवल में प्रदर्शनकारियों ने उपायुक्त कार्यालय के सामने विरोध प्रदर्शन किया और राष्ट्रीय राजमार्ग 19 को जाम कर दिया। 

अग्निपथ योजना के विरोध में प्रदर्शन, बिहार में आगजनी, रेलवे ने रद्द की 34 से ज्यादा ट्रेन

अधिकारियों ने बताया कि घटना की सूचना मिलने पर पुलिस ने मौके पर पहुंच कर प्रदर्शनकारियों पर हल्का बल प्रयोग किया जिसके चलते प्रदर्शनकारी आक्रोशित हो गए और पुलिस पर पथराव कर दिया और पुलिस की गाडिय़ों को आग के हवाले कर दिया और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाया। ड्यूटी मजिस्ट्रेट नरेंद्र सिंह ने बताया, च्च्प्रदर्शनकारियों द्वारा तोडफ़ोड़ व आगजनी कर सार्वजनिक सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाया है। जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन ने प्रदर्शनकारियों के खिलाफ कार्यवाही शुरू कर दी गई है।’’ 

राहुल गांधी की पीएम मोदी से अपील- बेरोजगार युवाओं के संयम की ‘अग्निपरीक्षा’ मत लीजिए

उन्होंने बताया कि जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है तथा इंटरनेट सेवा भी फिलहाल बंद कर दी गई है। पलवल के पुलिस अधीक्षक मुकेश मल्होत्रा ने एक बयान में बताया कि घटना में दो एसएचओ (थानेदार) सहित 15 पुलिस कर्मचारियों को गंभीर चोटें आई हैं, जबकि पांच सरकारी गाडिय़ों को उपद्रवियों ने जलाकर नष्ट कर दिया। उन्होंने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने जिला उपायुक्त कैंप कार्यालय में भी पथराव कर दिया और कैंप कार्यालय के भीतर दाखिल हो गए और गार्ड कक्ष में आग लगा दी। 

यूपी में ‘अग्निपथ’ योजना के खिलाफ प्रदर्शन, हरियाणा के पलवल में उग्र हुए युवा

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि स्थिति को नियंत्रण करते हुए पुलिस ने बल का प्रयोग किया, जिसमें हल्का लाठीचार्ज व आंसू गैस के गोले छोड़े गए। पुलिस ने राष्ट्रीय राजमार्ग 19 को खाली कराकर यातायात को सुचारू रूप से चलाया। मल्होत्रा ने बताया कि इस बाबत दो प्राथमिकियां दर्ज की गई हैं और दो विशेष जांच दल (एसआईटी) गठित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि ङ्क्षहसा में शामिल किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि उपद्रवियों की गिरफ्तारी के लिए दल दबिश दे रहे हैं और मामले से जुड़े एक दर्जन से अधिक उपद्रवियों को पुलिस हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। 

पलवल के अलावा गुरूग्राम, जींद और रेवाड़ी में भी प्रदर्शन हुए हैं। जींद में प्रदर्शनकारियों ने सरकार का पुतला भी दहन किया। वहीं इस घटना के बाद फरीदाबाद पुलिस भी सतर्क हो गई है। फरीदाबाद के पुलिस आयुक्त कमिश्रर विकास कुमार अरोड़ा ने सभी उपायुक्तों (डीसीपी), सहायक पुलिस आयुक्तों (एसीपी) थाना व चौकी प्रभारियों को अलर्ट रहने के निर्देश जारी किए है। 

युवाओं में बढ़ते आक्रोश के बीच वाम दलों ने की ‘अग्निपथ’ योजना को निरस्त करने की मांग

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह के मुताबिक, पुलिस आयुक्त ने कहा है कि फरीदाबाद में किसी को भी कानून हाथ में लेने की इजाजत नहीं दी जाएगी। गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने दशकों पुरानी रक्षा भर्ती प्रक्रिया में आमूल-चूल परिवर्तन करते हुए थलसेना, नौसेना और वायुसेना में सैनिकों की भर्ती संबंधी ‘‘अग्निपथ’’ योजना की मंगलवार को घोषणा की थी जिसके तहत सैनिकों की भर्ती चार साल की लघु अवधि के लिए संविदा आधार पर की जाएगी।      

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.