Thursday, Feb 09, 2023
-->
violent-protests-against-agneepath-in-many-districts-of-up-police-post-train-bogie-set-on-fire

‘अग्निपथ’ के खिलाफ यूपी के कई जिलों में हिंसक प्रदर्शन : पुलिस चौकी, ट्रेन की बोगी फूंकी 

  • Updated on 6/17/2022


नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सशस्त्र बलों में भर्ती की केन्द्र की नयी‘अग्निपथ’योजना के खिलाफ युवाओं के प्रदर्शन ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश में हिंसक रूप ले लिया। बलिया में प्रदर्शनकारियों ने एक ट्रेन के खाली डिब्बे को आग के हवाले कर दिया और अलीगढ़ में एक पुलिस चौकी फूंक दी गयी।  अपर पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने बताया कि अलीगढ़ के टप्पल क्षेत्र में कुछ नौजवानों के एक समूह ने अलीगढ़-पलवल राज्यमार्ग पर स्थित जट्टारी पुलिस चौकी में आग लगा दी। इसके अलावा उन्होंने पुलिस के एक वाहन को भी आग के हवाले कर दिया।   

‘अग्निपथ’ योजना पर शरद यादव ने उठाए सवाल, गिरिराज ने हिंसा पर राजद पर बोला हमला

  उन्होंने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने अलीगढ़ और टप्पल के बीच फंसे कुछ निजी वाहनों पर पथराव भी किया। हिंसक प्रदर्शन के दौरान खैर के पुलिस क्षेत्राधिकारी इंदु सिद्धार्थ घायल भी हो गये। हालांकि, उन्हें मामूली चोटें आयी हैं।      कुमार ने बताया कि प्रदेश में 17 जगहों से धरना प्रदर्शन की सूचना आई हैं। पुलिस द्वारा मौके पर पहुंच कर लोगों को समझाया गया। जनप्रतिनिधियों की मदद से युवाओं को अग्निपथ योजना को लेकर विश्वास में लेने की कोशिश की जा रही है।  बलिया में अग्निपथ योजना के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे कुछ नौजवानों ने बलिया रेलवे स्टेशन पर एक ट्रेन के खाली डिब्बे में आग लगा दी और कुछ बसों में तोडफ़ोड़ की। इसके बाद पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। बलिया की जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि फिलहाल 100 लोगों को हिरासत में लिया गया है। सीसीटीवी कैमरों की फुटेज के जरिए आरोपियों को चिन्हित किया जा रहा है। जांच के बाद आरोपियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।   

‘अग्निपथ’ को तत्काल वापस लिया जाए, PM मोदी नौजवानों से मांगें माफी : कांग्रेस

  इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल भी हुआ है। वीडियो में कुछ युवा रेल की पटरी उखाडऩे का प्रयास करते और रेलवे की संपत्ति में तोडफ़ोड़ करते नजर आ रहे हैं। वीडियो के अनुसार बलिया-वाराणसी मेमू एवं बलिया-शाहगंज ट्रेन में भी तोडफ़ोड़ की गई तथा प्लेटफार्म पर दुकानों को भी निशाना बनाया गया। रोडवेज से अनुबंधित दो बस में भी तोडफ़ोड़ की गयी। अपर पुलिस अधीक्षक तिवारी ने बताया कि पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए बल प्रयोग किया तथा आंसू गैस के गोले छोड़े। जिला विद्यालय निरीक्षक राकेश कुमार ने बताया कि जनपद के सभी बोर्ड के सभी माध्यमिक विद्यालयों में ग्रीष्मावकाश है और अब ऐसी स्थिति में किसी भी दशा में कोई भी विद्यालय बिना पूर्वानुमति के नहीं खोले जाएंगे। कुमार ने कहा कि इसके साथ ही मुख्यालय और आस पास के विद्यालयों के कार्यालय व सभी प्रकार के कोचिंग संस्थान अगले आदेश तक बंद रहेंगे।

अग्निपथ योजना पर लोगों को उकसाकर विवाद पैदा कर रहा विपक्ष : वी के सिंह 

     बलिया में सेना भर्ती की तैयारी कर रहे एक युवक ने नाम गोपनीय रखने की शर्त पर कहा कि वह सरकार से हाथ जोड़कर विनती करता है कि वह अग्निपथ योजना को वापस ले ले। इस निर्णय से सेना में भर्ती की तैयारी कर रहे युवाओं के सपने चकनाचूर हो रहे हैं। वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से अपील करते हैं कि इस योजना को वापस ले लें। युवकों द्वारा धरना प्रदर्शन की खबरें प्रदेश के बलिया, अलीगढ़, फिरोजाबाद, अमेठी, वाराणसी,उन्नाव व देवरिया जनपदों से आई हैं। पूर्वोत्तर रेलवे (एनईआर) के जनसंपर्क अधिकारी पंकज सिंह ने बताया कि प्रदर्शन की वजह से 12 रेलगाडिय़ों का संचालन रद्द कर दिया गया। इनमें वाराणसी-छपरा, छपरा-औरिहार, बलिया-वाराणसी, आजमगढ़-वाराणसी, छपरा-वाराणसी और वाराणसी-पटना एक्सप्रेस भी शामिल हैं। फिरोजाबाद से मिली खबर के अनुसार प्रदर्शनकारियों ने आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर बसों में तोडफ़ोड़ की। प्रदर्शनकारियों ने अवरोधक लगाकर बसों को रोका और उनमें तोडफ़ोड़ की। पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) अखिलेश नारायण ने बताया,‘‘सुबह करीब सात बजे आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे के थाना मटसेना इलाके में कुछ उपद्रवी राजमार्ग पर आ गए और उन्होंने बैरियर लगाकर चार बसों में तोडफ़ोड़ की। इस दौरान बस में बैठे यात्रियों में चीख-पुकार मच गई। बाद में सभी यात्रियों को दूसरी बसों से रवाना किया गया।’’     

अग्निपथ योजना के विरोध में प्रदर्शन, बिहार में आगजनी, रेलवे ने रद्द की 34 से ज्यादा ट्रेन

उन्होंने बताया कि जिन बसों में तोडफ़ोड़ की गई है उनमें गोरखपुर से दिल्ली, बस्ती से गाजियाबाद, गोरखपुर से दिल्ली और दिल्ली से गोरखपुर जा रही बस शामिल हैं। तोडफ़ोड़ करने वाले लोग आसपास के ही गांव के बताए गए हैं जिन्हें चिह्नित करने की कार्रवाई की जा रही है।  गौतमबुद्ध नगर के जेवर क्षेत्र में सैन्य भर्ती की अग्निपथ योजना के खिलाफ सैकड़ों प्रदर्शनकारी युवाओं ने यमुना एक्सप्रेस-वे पर रास्ता जाम कर दिया। इस वजह से नोएडा से आगरा तथा आगरा से नोएडा की तरफ आने वाले वाहन काफी देर तक जाम में फंसे रहे। पुलिस उपायुक्त (जोन तृतीय) मीनाक्षी कात्यान ने बताया कि प्रदर्शन के चलते काफी देर तक यातायात बाधित रहा। जाम में फंसे लोगों ने आरोप लगाया कि विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों ने वाहन चालकों के साथ बदसलूकी की है तथा वाहनों में तोडफ़ोड़ की है।  शुक्रवार सुबह यमुना एक्सप्रेसवे के जेवर टोल के पास सैकड़ों की संख्या में प्रदर्शनकारियों ने यमुना एक्सप्रेस वे की दोनों तरफ आने जाने वाले मार्ग पर जाम लगा दिया। प्रदर्शनकारियों ने यमुना एक्सप्रेसवे पर कूड़ा, पेड़ की डाल डालकर यातायात को जाम कर दिया। हाथ में लाठी-डंडे तथा तिरंगा लिए हुए युवा ‘इंकलाब जिंदाबाद’ सहित कई तरह के नारे लगा रहे थे।

‘अग्निपथ’ योजना पर शरद यादव ने उठाए सवाल, गिरिराज ने हिंसा पर राजद पर बोला हमला

 

अमेठी से मिली खबर के अनुसार केंद्र सरकार की ‘अग्निपथ’ योजना को लेकर शुक्रवार को यहां युवाओं ने जोरदार प्रदर्शन किया। इस दौरान विकासखंड भादर मुख्यालय पर दुर्गापुर-अमेठी मार्ग को जाम कर दिया जिसे खाली कराने के लिए पुलिस प्रशासन को काफी मशक्कत करनी पड़ी। वाराणसी से मिली खबर के अनुसार युवाओं ने प्रदर्शन करने के साथ ही कई जगहों पर तोडफ़ोड़ की। कैंट स्टेशन पर सैकड़ों प्रदर्शनकारियों ने सरकार विरोधी नारे लगाए और स्टेशन के सामने कई रोडवेज की बसों और ठेलों को क्षतिग्रस्त कर दिया। पुलिस बल के खदेडऩे पर प्रदर्शनकारियों की भीड़ महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ की तरफ भागी और फिर पथराव करने लगी। प्रदर्शनकारियों ने लहरतारा स्थित डीआरएम कार्यालय के सामने भी बसों में तोडफ़ोड़ की।  मौके पर पहुंचे पुलिस आयुक्त ए. सतीश गणेश ने कहा कि कानून व्यवस्था को हाथ में लेने वालों से हमने शांति की अपील की है, जो लोग नहीं मानेंगे उनके साथ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। उन्नाव से मिली खबर के अनुसार जिले के सफीपुर इलाके में महात्मा गांधी इंटर कॉलेज के पास युवकों ने धरना दिया। देवरिया में भी‘अग्निपथ’योजना के विरोध में युवकों ने धरना दिया।  

गुजरात : महाकाली मंदिर के शिखर पर 500 साल बाद पताका फहराएंगे पीएम मोदी

  •  

 

आगरा से मिली खबर के मुताबिक सैकड़ों प्रदर्शनकारियों ने मलपुरा क्षेत्र के गांव बाद में आगरा-ग्वालियर राष्ट्रीय राजमार्ग को बाधित कर दिया। घटना की जानकारी मिलने पर मौके पर बल के साथ पहुंचे मलपुरा के थाना प्रभारी तेजवीर सिंह की गाड़ी में प्रदर्शनकारियों ने तोडफ़ोड़ की और पुलिस पर पथराव किया। घटना की जानकारी मिलते पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण पश्चिम) सत्यजीत गुप्ता व सीओ अछनेरा राजीव सिरोही कई थानों की पुलिस के साथ पहुंचे और प्रर्दानकारियों को वहां से खदेड़ा। इसके बाद आक्रोशित प्रदर्शनकारी भाड़ई रेलवे स्टेशन पर पहुंच गये लेकिन पुलिस बल को देख दोबारा राजमार्ग पर चले आए। एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि शुक्रवार को प्रदर्शन कर रहे लोगों को एसपी सिटी ने मौके पर पहुंचकर समझाया। उल्लेखनीय है कि सरकार ने दशकों पुरानी रक्षा भर्ती प्रक्रिया में आमूल-चूल परिवर्तन करते हुए तीनों सेनाओं में सैनिकों की भर्ती संबंधी ‘अग्निपथ’ योजना की मंगलवार को घोषणा की थी। इसके तहत सैनिकों की भर्ती चार साल की लघु अवधि के लिए संविदा आधार पर की जाएगी। योजना के तहत तीनों सेनाओं में इस साल करीब 46,000 सैनिक भर्ती किए जाएंगे। चयन के लिए पात्रता आयु साढ़े 17 वर्ष से 21 वर्ष के बीच होगी और इन्हें ‘अग्निवीर’ नाम दिया जाएगा।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.