Friday, May 20, 2022
-->
viral-audio-of-congress-giving-rs-5-5-crores-to-mlas-came-out-djsgnt

राजस्थान में हलचल तेज! कांग्रेस का विधायकों को 5-5 करोड़ रूपये देने का ऑडियो आया सामने

  • Updated on 11/30/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। राजस्‍थान में गहलोत सरकार (Government) की स्थिरता को लेकर कांग्रेस व भाजपा नेताओं के बीच जारी बयानबाजी के बीच केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि मुख्यमंत्री ही खरीद फरोख्त का चक्रव्यूह रच रहे हैं और जनता को गुमराह कर रहे हैं।

ट्वीटर पर साझा किया वीडियो
उन्होंने ट्वीटर पर एक वीडियो साझा करते हुए कहा कि गहलोत सरकार लोकतांत्रिक मूल्यों और जनमत से खिलवाड़ कर रही यह किसी से छिपा नहीं है, पर अब पार्टी के ही वरिष्ठ विधायक महेंद्रजीत सिंह मालवीय की आम जनता के सामने स्वीकारोक्ति से साफ हो गया है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी को अपने पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है।

CoronaVirus को पूरा हुआ एक साल! सामने आया चीन के झूठे दावों का सच

उन्होंने आगे कहा कि राज्य सरकार द्वारा विधायकों की खरीद-फरोख्त़ कर विधानसभा में हासिल किया गया विश्वास मत वास्तव में जनता से किया गया छल था, इसी प्रकार राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी की जीत भी संदेहास्पद है।

खरीद फरोख्त का चक्रव्यूह रचा
उन्होंने कहा कि जहां गहलोत जी ने एक तरफ बाड़ेबंदी की कहानी चलाई वहीं दूसरी तरफ खरीद फरोख्त का चक्रव्यूह भी रचा और जनता को गुमराह कर अपने छल से ध्यान हटाने के लिए भाजपा पर लगातार प्रहार किए। लेकिन अब खुद ही इस षड्यंत्र के सारे रहस्य बाहर आ रहें हैं। अशोक जी, जनता सब देख रही है!

वैज्ञानिकों ने कोरोना की 'सुपर वैक्सीन' बनाने का किया दावा, कहा- कई गुना ताकतवर है दवा 

समर्थन करने के लिए 10 करोड़
गौरतल है कि कांग्रेस विधायक महेंद्रजीत मालवीय कथित तौर पर यह कहते सुनाई दे रहे हैं कि भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी) के दो विधायकों ने सरकार का समर्थन करने के लिए 10 करोड़ रुपये लिए। मालवीय जनसभा में दिए अपने भाषण में कथित तौर पर कह रहे हैं कि बीटीपी के विधायकों ने राज्‍यसभा चुनाव व बाद के राजनीतिक संकट के दौरान कांग्रेस सरकार का समर्थन करने के लिए पांच-पांच करोड़ रुपये लिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.