Saturday, Jan 28, 2023
-->
voting-ends-for-first-phase-of-gujarat-assembly-elections

गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए मतदान संपन्न

  • Updated on 12/1/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण में सौराष्ट्र-कच्छ और दक्षिणी क्षेत्रों के 19 जिलों की 89 सीट के लिए मतदान बृहस्पतिवार शाम पांच बजे समाप्त हो गया। निर्वाचन आयोग ने कहा कि मतदान के अंतिम आंकड़ों का इंतजार किया जा रहा है और अपराह्न तीन बजे तक 48.48 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया था। आयोग के अनुसार, अपराह्न तीन बजे तक दक्षिण गुजरात के आदिवासी बहुल तापी और नर्मदा जिलों में 60 प्रतिशत से अधिक मतदान दर्ज किया गया। कुछ छिटपुट घटनाओं और इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) में गड़बड़ी की कुछ शिकायतों को छोड़कर सुबह आठ बजे शुरू हुई मतदान प्रक्रिया कमोबेश शांतिपूर्ण रही।

भावनगर के पलिताना में मतदान के दौरान अलग-अलग राजनीतिक दलों के दो गुटों में झड़प हो गई। जामनगर जिले के जामजोधपुर में महिला मतदाताओं ने मतदान केंद्र पर उनके लिए कोई अलग बूथ नहीं होने पर विरोध दर्ज कराया। जूनागढ़ में, पुलिस ने कांग्रेस के एक पदाधिकारी को उस समय रोकने की कोशिश की, जब वह अपने कंधे पर रसोई गैस सिलेंडर लेकर मतदान केंद्र की ओर जा रहे थे। निर्वाचन आयोग ने 104 वर्षीय मतदाता रामजीभाई की तस्वीर ट्वीट की और कहा कि उन्होंने डाक मतपत्र का विकल्प चुनने के बजाय मतदान केंद्र पर आकर मतदान करके लोकतंत्र के उत्सव में भाग लिया। निर्वाचन आयोग ने सुबह 100 वर्षीय मतदाता कामुबेन पटेल की एक तस्वीर ट्वीट की जिसमें वह वलसाड जिले के उंबरगांव विधानसभा क्षेत्र के एक मतदान केंद्र में वोट डालने के बाद अपनी उंगली पर लगी अमिट स्याही दिखा रही हैं।

राज्य विधानसभा की कुल 182 सीटों में से 89 सीटों पर चुनाव के पहले चरण के तहत मतदान हुआ। पहले चरण में 788 उम्मीदवारों की चुनावी किस्मत का फैसला होगा। निर्वाचन आयोग ने कहा कि छह जिलों में 50 प्रतिशत से अधिक मतदान दर्ज किया गया। तापी में सबसे अधिक 63.98 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया। इसके बाद नर्मदा में 63.95 प्रतिशत मतदान हुआ, दोनों दक्षिण गुजरात क्षेत्र के आदिवासी बहुल जिले हैं। दक्षिण गुजरात के एक अन्य आदिवासी बहुल जिले डांग में इस अवधि के दौरान 58.55 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया। दक्षिण गुजरात में भी इस अवधि के दौरान नवसारी और वलसाड तथा सौराष्ट्र के गिर सोमनाथ और भावनगर में भी 50 प्रतिशत से अधिक मतदान दर्ज किया गया।

राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) ने कहा कि मतदान के शुरुआती तीन घंटों में विभिन्न केंद्रों पर गड़बड़ी के कारण 33 बैलट यूनिट, 29 कंट्रोल यूनिट और 69 वोटर वेरिफिएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपीएटी) को बदला गया। राज्य में मतदान होने के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पंचमहल के कलोल और छोटा उदयपुर में रैलियों को संबोधित किया, जहां विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के तहत पांच दिसंबर को मतदान होगा। राज्य के सीईओ कार्यालय ने एक विज्ञप्ति में कहा, ‘‘मतदान के शुरुआती तीन घंटे में लगभग 0.1 प्रतिशत बैलट यूनिट, 0.1 प्रतिशत कंट्रोल यूनिट तथा 0.3 प्रतिशत वीवीपीएटी को बदला गया। सभी जिलों में रिजर्व मशीन सेट उपलब्ध हैं। जहां कहीं भी कोई छोटी या बड़ी समस्या होती है तो उसे जल्द से जल्द दूर करने की व्यवस्था की गयी है।''

सुबह-सुबह मतदान करने वालो में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, भाजपा की प्रदेश इकाई के प्रमुख सी आर पाटिल, राज्यसभा सदस्य परिमल नाथवानी, जामनगर (उत्तर) से भाजपा उम्मीदवार रीवाबा जडेजा, कांग्रेस के विपक्ष के पूर्व नेता परेश धनानी और आम आदमी पार्टी (आप) की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष गोपाल इटालिया शामिल थे। रीवाबा जडेजा ने राजकोट में एक मतदान केंद्र पर वोट डाला जबकि उनके पति और क्रिकेटर रवींद्र जडेजा ने जामनगर में वोट डाला। 

comments

.
.
.
.
.