Tuesday, May 21, 2019

लक्ष्मण ने BCCI लोकपाल से कहा, आगे सुनवाई की जरूरत नहीं है

  • Updated on 5/15/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पूर्व भारतीय (indian player) स्टार वीवीएस लक्ष्मण (vvs laxman) ने बीसीसीआई (BCCI) के नैतिकता अधिकारी को सूचित किया है कि उन्हें सनराइजर्स हैदराबाद (sunrisers hydrabad) के मेंटर और बोर्ड की क्रिकेट सलाहकार समिति का सदस्य होने की दोहरी भूमिका के कारण हितों के टकरावों के कथित आरोपों के संबंध में आगे सुनवाई की जरूरत नहीं है।  

विश्व कप के लिये हमारी तरकश में हैं काफी तीर - शास्त्री     

न्यायमूर्ति जैन ने अब अपना फैसला सुरक्षित रखा है। बीसीसीआई (BCCI) और शिकायतकर्ता संजीव गुप्ता (sanjeev gupta) ने भी कहा है कि आगे सुनवाई की जरूरत नहीं है। लक्ष्मण (laxman) और तेंदुलकर ( sachin tendulkar) ने जैन के सामने लंबी गवाही दी और सुनवाई की अगली तिथि 20 जून तय की गयी थी जब वकील उनकी तरफ से उपस्थित होते। पता चला है कि लक्ष्मण ने स्पष्ट किया है कि उन्हें अपने बयान में और कुछ नहीं जोडना है। इसमें लिखित बयान भी शामिल है।

IPL 12: जोश, जज्बा और जुनून की मिसाल बने वाटसन, खून से लथपथ होने पर भी नहीं छोड़ा मैदान

लक्ष्मण (vvs laxman) ने अपने हलफनामे में साफ किया था कि हितों का टकराव नहीं है। उन्होंने स्पष्ट किया कि अगर आरोप साबित हो जाते हैं तो सीएसी सदस्य पद से हट जाएंगे। बीसीसीआई वेबसाइट (bcci website) ने नैतिकता अधिकारी जो कि बोर्ड के लोकपाल भी हैं, का बयान अपनी वेबसाइट पर दिया है।  

पूर्व कप्तान अजहरूद्दीन ने कहा, 'विश्व कप का प्रबल दावेदार है भारत'      

उन्होंने कहा, ‘‘वीवीएस लक्ष्मण ने अपना लिखित बयान सौंप दिया है और कहा है कि मामले का फैसला रिकार्ड में मौजूद सामग्री और आज दायर किये गये लिखित बयान के आधार पर किया जा सकता है। उन्होंने कहा है कि उन्हें इस मामले में आगे सुनवाई की जरूरत नहीं है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.