Tuesday, Dec 07, 2021
-->
wankhede''''s wife asked cm uddhav - would balasaheb like this musrnt

वानखडे की पत्नी ने CM उद्धव से पूछा- क्या महिला स्मिता से खिलवाड़ बाला साहेब पसंद करते

  • Updated on 10/28/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। आर्यन ड्रग मामले की तफ्तीश कर रहै NCB के अधिकारी समीर वानखडे की पत्नी ने एसीपी नेता नवाब मलिक के निजी हमलों से परेशान होकर महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे से सुरक्षा की गुहार लगाई है। उद्धव ठाकरे को लिखे खत में समीर की पत्नी क्रांति रेडकर ने लिखा है कि एक मराठी लड़की के तौर पर बचपन से ही वह शिवाजी और शिवसेना से यह सीखती रही कि किसी पर अन्याय मत करो और नहीं खुद अन्याय सहन करो।

सीएम उद्धव ठाकरे को लिखे खत में क्रांति ने लिखा है कि जनता के सामने रोजाना उनकी और उनके परिवार की इज्जत का मजाक उड़ाया जा रहा है। छत्रपति शिवाजी महाराज के आदर्शों को मानने वाली शिव सेना के शासन में एक महिला की स्मिता को खिलौना बनाया जा रहा है। उन्होंने सवाल उठाया कि क्या आज बाला साहेब जिंदा होते तो ये सब पसंद करते...  उन्होंने आगे लिखा है कि एक मराठी के नाते वह इस विश्वास के साथ उनकी तरफ देख रही हैं कि आपके रहते मेरे साथ अन्याय नहीं होगा।

बताते चले कि जब से अभिनेता शाहरुख खाने के बेटे के ड्रग मामले की जांच समीर वानखड़े कर रहे हैं तभी से महाराष्ट्र में शिवसेना की सहयोगी पार्टी एनसीपी के नेता और उद्धव ठाकरे कैबिनेट के मंत्री नवाब मसिक रोजाना उनपर व्यक्तिगत और पारिवारिक स्तर पर हमलेकर रहे हैं और नौकरी छीनने की धमकी तक दे रहे हैं।

नवाब मलिक के आरोपों के खिलाफ समीर की पत्नी क्रांति रेडकर ने बुधवार को कहा कि उनके पति का जन्म एक ङ्क्षहदू के रूप में हुआ था और उन्होंने कभी अपना धर्म नहीं बदला। क्रांति रेडकर ने 2006 में समीर वानखेड़े की पहली शादी कराने वाले काजी द्वारा किए गए उस दावे का भी विरोध किया, जिसमें काजी ने कहा है कि समीर‘निकाह’के समय मुस्लिम थे।  हाई-प्रोफाइल क्रूज ड्रग्स मामले में जबरन वसूली के आरोपों के बाद वानखेड़े एक राजनीतिक तूफान के केन्द्र में आ गए हैं, जिसमें अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को गिरफ्तार किया गया था। समीर विभागीय सतर्कता जांच का सामना कर रहे हैं।  

निकाहनामे, धर्म परिवर्तन को लेकर समीर वानखेड़े के बचाव में उतरी पत्नी क्रांति रेडकर 

समीर वानखेड़े से 2017 में शादी करने वाली क्रांति रेडकर ने एक संवाददाता सम्मेलन में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी(राकांपा) के नेता एवं महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक के आरोपों का जवाब देते हुए कहा कि मलिक उनके पति के खिलाफ झूठे आरोप लगाकर घटिया स्तर की राजनीति कर रहे हैं।

नवाब मलिक को NCB के खिलाफ बोलने से रोकने को बंबई HC में याचिका

दरअसल, मलिक ने आरोप लगाया था कि वानखेड़े का जन्म एक मुस्लिम के रूप में हुआ था, लेकिन फर्जी जाति प्रमाण पत्र सहित अन्य जाली दस्तावेजों की मदद से आरक्षण के तहत नौकरी पाने के लिए समीर ने खुद को ङ्क्षहदू दलित बताया और संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा पास की। एनसीबी के क्षेत्रीय निदेशक की पत्नी रेडकर ने कहा, 'क्या वह काजी संविधान से ऊपर है? उसे यह दिखाने के लिए कागजात पेश करने चाहिए कि समीर वानखेड़े ने अपनी पहली पत्नी से शादी करने के लिए (इस्लाम में) धर्मांतरण किया था। समीर ने अपनी मां जोकि एक मुस्लिम थीं, उनकी इच्छा पूरी करने के लिए ही 2006 में इस्लाम के अनुसार निकाह किया था।' 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.