Monday, Apr 23, 2018

'Ro-Hitman' का खुलासा! धोनी और गेल जैसी ताकत नहीं लेकिन टाइमिंग पर भरोसा

  • Updated on 12/14/2017

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में रिकार्ड तीसरा दोहरा शतक जड़ने के एक दिन बाद कहा कि वह अपना विकेट नहीं गंवाने के लिये प्रतिबद्ध थे। भारत के कार्यवाहक कप्तान ने श्रीलंका के खिलाफ दूसरे वनडे में 141 रन की जीत के बाद मुख्य कोच रवि शास्त्री से बात की। बीसीसीआई की आधिकारिक वेबसाइट पर इसका वीडियो डाला गया है। 

पीएम मोदी के कथित रोड शो को लेकर सियासत तेज, अब भाजपा ने किया कांग्रेस पर पलटवार

रोहित ने शास्त्री से कहा, ‘‘मैं खुद से कह रहा था कि जब तक मैं गलती नहीं करता मैं आउट नहीं हो सकता। मैं चाहता था कि अगर वे कोशिश करते हैं तो मेरा विकेट लें। मैं अपना विकेट नहीं गंवाना चाहता था और मैं जब तक संभव हो तब तक बल्लेबाजी करने के लिये प्रतिबद्ध था। ’’ पारी का आगाज करते हुए रोहित ने 208 रन बनाये जिससे भारत ने कल पीसीए स्टेडियम में चार विकेट पर 392 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया।

रोहित ने कहा, ‘‘मैं जानता था कि विकेट बहुत अच्छा है और यहां की आउटफील्ड काफी तेज है। इसलिए मैं यही सोच रहा था कि मुझे क्रीज पर टिके रहना है और लाइन पर आकर शाट लगाने हैं। ’’ रोहित ने भारतीय टीम के दमखम के लिये अनुकूलन कोच शंकर बासु की भूमिका की सराहना की। 

रोहित ने पत्नी को सालगिरह पर दिया था ये तोहफा

उन्होंने कहा, ‘‘हमारे ट्रेनर बासु का शुक्रिया। वह वास्तव में हमारे साथ काफी कड़ी मेहनत कर रहे हैं और मेरी ताकत सही टाइमिंग है। मैं जानता हूं कि मैं महेंद्र सिंह धोनी या क्रिस गेल जैसा खिलाड़ी नहीं हूं। मेरे पास बहुत अधिक पावर नहीं है लेकिन मैं टाइमिंग पर बहुत अधिक भरोसा करता हूं और यही मैंने किया’’।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.