Sunday, Jun 07, 2020

Live Updates: Unlock- Day 6

Last Updated: Sat Jun 06 2020 07:55 PM

corona virus

Total Cases

246,544

Recovered

118,684

Deaths

6,936

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA80,229
  • TAMIL NADU28,694
  • NEW DELHI26,334
  • GUJARAT19,119
  • RAJASTHAN10,084
  • UTTAR PRADESH9,733
  • MADHYA PRADESH8,996
  • WEST BENGAL7,303
  • KARNATAKA4,835
  • BIHAR4,598
  • ANDHRA PRADESH4,112
  • HARYANA3,281
  • TELANGANA3,147
  • JAMMU & KASHMIR3,142
  • ODISHA2,608
  • PUNJAB2,415
  • ASSAM2,116
  • KERALA1,589
  • UTTARAKHAND1,153
  • JHARKHAND889
  • CHHATTISGARH773
  • TRIPURA646
  • HIMACHAL PRADESH383
  • CHANDIGARH304
  • GOA166
  • MANIPUR124
  • NAGALAND94
  • PUDUCHERRY90
  • ARUNACHAL PRADESH42
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS33
  • MEGHALAYA33
  • MIZORAM22
  • DADRA AND NAGAR HAVELI14
  • DAMAN AND DIU2
  • SIKKIM2
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
we get ready to take action on pok

POK पर बोले नए सेनाध्यक्ष- सरकार से मिले आदेश तो हम कार्रवाई को तैयार

  • Updated on 1/11/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवाने ने कहा है कि यदि सरकार से अनुमति मिले तो पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) भी भारत का हिस्सा हो सकता है। इसके साथ ही उन्होंने यह साफ कर दिया कि इसका फैसला सरकार को लेना। 

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज मुकुंद नरवाने बने 28वें सेनाध्यक्ष, जानें इनसे जुड़ी खास बातें

प्रेस कॉन्फ्रेंस में राजनीतिक नेतृत्व द्वारा PoK को भारत में शामिल करने को लेकर पूछे गए सवाल पर सेना प्रमुख ने कहा कि यह एक संसदीय संकल्प है कि संपूर्ण जम्मू- कश्मीर भारत का हिस्सा है। यदि संसद यह चाहती है तो उस क्षेत्र (PoK) को भी भारत में होना चाहिए। जब हमें इस बारे में कोई आदेश मिलेंगे तो हम उचित कार्रवाई करेंगे।

सोना को सीमा पर पाकिस्तान और चीन की ओर से मिल रही चुनौतियों के बारे में पूछे जाने पर नरवाने ने कहा कि हम उन्हें उचित जवाब देने में सक्षम हैं। इंटेलिजेंस इनपुट और सेना की तत्परता से हम हमेशा उनके साजिश को नाकाम करने में सफल रहते हैं। 

नरवाने पहले भी भारतीय सेना द्वारा सीमा पार जाकर सेना की कार्रवाई की बात कर चुके हैं। सेना प्रमुख का पदभार ग्रहण करने के कुछ घंटे बाद जनरल नरवाने ने साक्षात्कार में कहा था कि भारत को आतंकी खतरे वाले स्रोतों पर एहतियातन हमला करने का अधिकार है। उन्होंने कहा अगर पाकिस्तान, राज्य प्रायोजित आतंकवाद की अपनी नीति को नहीं रोकता है तो हमारे पास ऐसी स्थिति में आतंक के खतरे वाले स्रोतों पर हमला करने का अधिकार है और सर्जिकल स्ट्राइक तथा बालाकोट अभियान के दौरान हमारे जवाब में इस सोच की पर्याप्त झलक मिल चुकी है।'

नरावने अब तक अपने जीवन के 37 वर्ष भारतीय सेना की सेवा में गुजार चुके हैं। उन्हें आतंकवाद रोधी इलाकों में काम करने का खास अनुभव है। उन्होंने इस दौरान अपनी जिम्मेदारी पूरे अनुशासित तरीके से संभाली। वे जम्मू- कश्मीर में राष्ट्रीय राइफल्स बटालियन के अतिरिक्त पूर्वी मोर्चे पर सेना ब्रिगेड का पदभार संभाल चुके हैं। इसके अलावा वे श्रीलंका में भारतीय शांति रक्षा सेना का हिस्सा भी रह चुके हैं।  

 

comments

.
.
.
.
.