Sunday, Feb 28, 2021
-->
weakness of corona virus revealed covid 19

सामने आई Coronavirus की सबसे बड़ी कमजोरी, अब आपके पास नहीं भटकेगा ये वायरस

  • Updated on 3/24/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। रहस्यों के साए में रह रहे कोरोना वायरस (Coronavirus) की एक कमजोरी भी है। उसे संक्रमित से स्वस्थ व्यक्ति में पहुंचने के लिए एक सरफेस की जरूरत होती है। वह हवा में या पानी में ट्रैवल नहीं कर सकता। न्यूयॉर्क टाइम्स की माने तो दुनियाभर के वैज्ञानिक इस बात पर सहमत हैं कि लोगों को घरों के भीतर रहना चाहिए और संक्रमित लोगों को स्वस्थ लोगों से एकदम अलग रखकर इलाज किया जाना चाहिए। एक्सपर्ट्स का मानना है कि कुछ तरीकों को अपनाने से वायरस का संक्रमण काफी हद तक रोका जा सकता है।

कोरोना संकट के बीच सोनिया गांधी ने लिखा PM मोदी को पत्र, कहा - हुआ करोड़ों का घोटाला

वैज्ञानिकों को सुना जाना चाहिए
कोरोना वायरस के मामले में आजकल लगातार नेता ही प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं। नेताओं की बजाए हमें वैज्ञानिकों और एपिडेमियोलॉजिस्ट को सुनना चाहिए। वे आम लोगों को ज्यादा बेहतर ढंग से बता सकते हैं।

corona stay safe

करोना पॉजिटिव के लिए आइसोलेशन
जितनी जल्दी संभव हो सके कोरोना पॉजिटिव को आइसोलेट कर देना चाहिए। चीन में 75 से 80 प्रतिशत तक संक्रमण परिवार से परिवार के बीच ही फैला।

कोरोना को लेकर PM मोदी आज रात फिर करेंगे देश को संबोधित, लेंगे कड़े फैसले

सही ढंग से जांच हो
जांच के लिए प्राथमिकता तय हो कि जो मरीज ज्यादा गंभीर हालत में हो उसकी जांच पहले हो और सही ढंग से हो ताकि इलाज शुरू हो सके।

बुखार की तुरंत जांच
चूंकि चीन, ताइवान और वियतनाम पहले सार्स का कहर देख चुके हैं और साउथ कोरिया ने भी मर्स झेला है, वहां पर बुखार पर ध्यान देना आदत में आ चुका है। भारत में भी बुखार की तुरंत जांच होनी चाहिए।

corona safety

Corona: पाकिस्तान में बेकाबू हुए हालात, सड़कों पर उतरी सेना

संक्रमित के संपर्क में आए लोगों की जानकारी जुटाना
संक्रमित के संपर्क में आए लोगों की जानकारी जुटाना भी एक अहम कदम है। ऐसे हरेक व्यक्ति की जांच होनी चाहिए जो किसी भी कोरोना पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आया हो।

जरूरी सेवाएं रहें जारी
महामारी के दौरान जरूरी सेवाएं जैसे खाना, पीना, बिजली, गैस, फोन लाइन और दवाइयों की दुकानें खुली रहनी चाहिए। सेना और दूसरी चीजें भी बेहद जरूरी हैं ताकि डर ना फैले।

कोरोना के खौफ के बीच बिहार सरकार का बड़ा फैसला, इन लोगों को होगा सीधा फायदा

वेंटीलेटर और ऑक्सीजन 
अस्पतालों में मरीजों के लिए वेंटिलेटर और ऑक्सीजन की कमी ना हो।अगर कोरोना के मरीज ज्यादा संख्या में आने लगें तो उन्हें संभालना मुश्किल हो जाएगा क्योंकि यह बीमारी श्वसन तंत्र पर भी अटैक करती है।

covid19

कोरोना ने लगाई खाने-पीने की चीजों के दामों में आग, सब्जी मंडियों में जुटे लोग

वालंटियर की तैनाती 
वालंटियर की तैनाती का कदम भी एमरजैंसी के दौरान काफी काम आ सकता है। चीन ने बीमारी पर जीत पाई क्योंकि वहां पर काफी सारे वालंटियर थी जो लोगों और खासकर हेल्थ वर्कर्स की मदद कर रहे थे।

अस्पतालों की व्यवस्था में बदलाव
चीन में सरकार ने दो ही हफ्तों में दो नए अस्पताल तैयार करवाए। इनके अलावा बाकी सारे अस्पतालों को अलग-अलग काम मिले। जैसे कुछ का काम कोरोना के गंभीर रूप से संक्रमितों का इलाज था तो कुछ सिर्फ एमरजैंसी के लिए थे। भारत के अस्पतालों की व्यवस्था में भी ऐसा ही बदलाव होना चाहिए।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें 

इन आयुर्वेदिक उपायों का करें इस्तेमाल, नहीं आएगा Coronavirus पास

कोरोना से लड़ना है तो अपने बच्चे को दीजिए स्ट्रोंग इम्यून सिस्टम का ये डोज

इन आयुर्वेदिक उपायों का करें इस्तेमाल, नहीं आएगा Coronavirus पास

Coronavirus: शोध में सामने आए नये लक्षण, स्वाद क्षमता पर पड़ता है प्रभाव

क्या है हर्ड इम्युनिटी, जो कर सकती है कोरोना वायरस के डर का खात्मा!

कोरोना कहर: इटली का ये अस्पताल बना ‘कोरोना अस्पताल’, लाइनों में लगी हैं लाशें

भारत में कितनी लंबी है कोरोना की उम्र, क्या है खत्म होने के आसार? पढ़ें खास रिपोर्ट

कोरोना संक्रमण से बचाए अपने ऑफिस और फैक्ट्री को, अपनाएं ये आसान तरीके

कोरोना के खौफ के बीच बिहार सरकार का बड़ा फैसला, इन लोगों को होगा सीधा फायदा

कोरोना वायरस से लड़ने की मुहीम में भिड़े लाइफबॉय और डेटॉल, कोर्ट पहुंचा मामला

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.