Thursday, Aug 16, 2018

सावन के महीने में मेंहदी लगा रहीं हैं तो खतरनाक हो सकती है ये लापरवाही

  • Updated on 8/10/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सावन के महीने में और इसके बाद तीज का त्योहार महिलाओं को खास तौर से उत्साहित करता है। इस मौक पर महिलाएं हाथों में मेंहदी लगवाना खूब पंसद करती हैं। खूबसूरत मेंहदी से जब हाथ सजते हैं तो कई लोगों की निगाह टिक जाती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि मेंहदी लगाने के कई सारे साइट इफेक्ट्स भी हैं।

मेंहदी कैसे करती है नुकसान?

दरअसल बाजार में मिलने वाली मेंहदी में कई सारे रसायन होते हैं जो मेंहदी के रंग को और गाढ़ा करने के लिए किए जाते हैं। इससे भले ही रंग गाढ़ा हो जाता है लेकिन ये त्वचा को नुकसान पहुंचाते है। आएये जानते हैं कि मेंहदी किस तरह से नुकसान पहुंचाती है। केमिकल मेंहदी के प्रयोग से क्या नुकसना हैं और इससे कैसे बचा जाए...

Navodayatimes

ऐसे होता है नुकसान

बाजारों में मिलने वाली मेंहदी में पीपीडी और डायमीर नाम के कैमिकल मिलाए जाते हैं। ये रसायन रंग को गाढ़ा करते हैं लेकिन इससे त्वचा पर जलन, खुजली, सूजन और लाली आ जाती है। ये कई बार गंभीर रुप भी ले लेते हैं। 

अगर मेंहदी से होने वाले नुकसान पर सही समय पर उचित इलाज ना किया जाए तो खतरनाक साबित हो सकते हैं। साथ ही मेंहदी में अमोनिया, ऑक्सीडेटिन और हाईड्रोजन जैसे कैमिकल का प्रयोग होता है। ये त्वचा के काफी खतरनाक होते हैं। 

यूं रखें ख्याल..

ऐसी किसी स्थिति से बचना है तो कुछ बातों का ध्यान रखना होता है। मेंहदी लगाने के लिए कैमिकल युक्त मेंहदी के बजाय हर्बल मेंहदी का प्रयोग होता है। प्राकृतिक मेंहदी की पत्तियों से बनी मेंहदी का प्रयोग करें इससे त्वचा को ठंडक भी मिलती है। 

अगर मेंहदी लगाने के बाद छाले पड़ जाए या खुजली हो तो उसे ठंडे पानी से धो लें और इसके बाद नारियल का लेप लगा लें। इस लेप से मालिश भी कर सकते हैं। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.