Sunday, May 22, 2022
-->
weekend curfew ends in delhi, odd-even rule removed at shops

दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू खत्म, दुकानों पर ऑड- ईवन वाला नियम हटा

  • Updated on 1/27/2022

नई दिल्ली / टीम डिजिटल। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने कोविड-19 की स्थिति में सुधार के मद्देनजर बृहस्पतिवार को राष्ट्रीय राजधानी में गैर-जरूरी दुकानों को खोलने की सम-विषम व्यवस्था, सप्ताहांत कर्फ्यू को हटाने के अलावा रेस्तरां एवं बार को 50 प्रतिशत क्षमता के साथ फिर से खोलने की अनुमति देने का फैसला किया।

अधिकारियों ने कहा कि उपराज्यपाल अनिल बैजल की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह फैसला किया गया। हालांकि, बैजल ने अगली बैठक होने तक स्कूलों को फिर से खोलने के निर्णय को स्थगित कर दिया। उन्होंने बताया कि सरकारी कार्यालयों को भी 50 प्रतिशत कर्मचारियों की उपस्थिति के साथ फिर से खोलने की अनुमति दी गई है।

बैठक में खुले क्षेत्रों में अधिकतम 200 मेहमानों और बंद स्थानों पर 50 प्रतिशत तक की क्षमता के साथ विवाह समारोहों की अनुमति देने का फैसला भी लिया गया। अब तक घर पर इस तरह के आयोजनों में सिर्फ 20 लोगों को ही शामिल होने की इजाजत थी।

सप्ताहांत को छोड़कर बाकी दिनों में रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक लागू रात्रि कर्फ्यू जारी रहेगा। अधिकारियों ने कहा कि बैठक में मामलों में वृद्धि पर रोकथाम के लिए कोविड उपयुक्त व्यवहार के अनुपालन को बढ़ावा देने और अन्य दिशानिर्देशों को सख्ती से लागू करने का भी निर्णय लिया गया।

दिल्ली सरकार ने गत शुक्रवार को महामारी की स्थिति को देखते हुए वीकेंड कर्फ्यू हटाने और दुकानें खोलने के लिए सम-विषम योजना को समाप्त करने का प्रस्ताव दिया था, लेकिन उपराज्यपाल बैजल ने स्थिति में और सुधार होने तक पाबंदियों पर यथास्थिति बनाए रखने का सुझाव दिया था। उपराज्यपाल ने सिर्फ निजी कार्यालयों को 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ काम करने की अनुमति देने के सरकार के प्रस्ताव को मंजूरी दी थी।

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा था कि पाबंदियों में ढील देने का निर्णय दिल्ली में कोविड-19 मामलों की घटती संख्या को देखते हुए और यह सुनिश्चित करने के लिए भी लिया गया था कि जनता की आजीविका प्रभावित न हो। सिसोदिया ने कहा था कि अब चूंकि मामले कम हो रहे हैं और यह भी लगता है कि कोरोना वायरस लहर का चरम गुजर गया है, हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि जनता की आजीविका सुचारू रूप से चलती रहे।

उन्होंने कहा था कि हमने वीकेंड कर्फ्यू और बाजारों में दुकानों के खुलने की सम-विषम व्यवस्था को खत्म करने का भी प्रस्ताव रखा है। दिल्ली के कई हिस्सों में व्यापारी भी पाबंदियों का विरोध कर रहे हैं और पाबंदियों को हटाने की मांग कर रहे हैं, जिसमें गैर-जरूरी सामान बेचने वाली दुकानों पर लगायी गई पाबंदियां शामिल हैं, जिसके तहत उन्हें सम-विषम व्यवस्था के आधार पर एक दिन छोड़कर दुकान खोलने की अनुमति दी गई है। वीकेंड कर्फ्यू शुक्रवार को रात 10 बजे लागू होता है और सोमवार सुबह 5 बजे तक जारी रहता है।

दिल्ली में कोविड-19 मामलों में वृद्धि के कारण एक जनवरी को डीडीएमए द्वारा वीकेंड कर्फ्यू और बाजारों में दुकानों को खोलने के लिए सम-विषम सिस्टम लगाने का निर्णय लिया था। डीडीएमए ने गैर-आवश्यक सेवाओं से संबंधित सभी निजी कार्यालयों को बंद करने सहित अन्य पाबंदियां भी लगायी थीं। हालांकि 21 जनवरी को निजी दफ्तरों को 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खोलने की अनुमति दे दी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.