Friday, Oct 29, 2021
-->
west bengal cm mamata banerjee wrote song praise policemen covid19 pandemic pragnt

कोरोना काल में पुलिसकर्मियों का उत्साह बढ़ाने के लिए ममता बनर्जी ने लिखा गीत

  • Updated on 9/2/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पश्चिम बंगाल (West Bengal) में कोरोना वायरस (Coronavirus) का संक्रमण तेजी से लोगों को अपनी गिरफ्त में ले रहा है। वहीं कई कोरोना फाइटर्स (Corona Fighters) संक्रमण की चपेट में हैं। इस बीच राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने कोरोना महामारी के दौरान लोगों की सेवा कर रहे पुलिस बल और उसके कर्मियों की प्रशंसा की है। ममता ने ऐसे कोरोना वॉरियर्स के लिए एक गीत लिखा है।

कोरोना की गिरफ्त में दिल्ली, LG अनिल बैजल ने CM के साथ की समीक्षा बैठक

ममता बनर्जी ने लिखा गीत
मुख्यमंत्री से जुड़े करीबी सूत्रों ने बताया कि राज्य में एक सितंबर को पुलिस दिवस मनाया जाना था। इस पुलिस दिवस को ध्यान में रखते हुए ममता बनर्जी ने 'आपको नमन, पुलिस दिवस, आपको नमन' गीत लिखा। राज्य की सूचना एवं सांस्कृतिक मामलों की राज्यमंत्री इंद्राणी सेन ने यह गीत गाया है।

उत्तराखंड: मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत एक बार फिर हुए होम आइसोलेट, मंत्रिमंडल की बैठक भी स्थगित

पूर्व राष्ट्रपति के निधन की वजह से नहीं मनाया पुलिस दिवस
बता दें कि पश्चिम बंगाल में एक सितंबर को पुलिस दिवस मनाया जाना था लेकिन पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन के बाद राज्यव्यापी अवकाश के चलते कार्यक्रम को आठ सितंबर तक स्थगित कर दिया गया। यह गीत अंग्रेजी में शुरू होता है और फिर बंगाली में चलता रहता है। इसमें पुलिस बल की जिम्मेदारियों और कोविड-19 महामारी के दौरान उन्होंने किस तरह लोगों की सेवा की है, इसका उल्लेख किया गया है।

राजनाथ सिंह के बेटे विधायक पंकज सिंह कोरोना पॉजिटिव, अस्पताल में हुए भर्ती

CM ममता ने प्रणब मुखर्जी के निधन पर जताया शोक
मुख्यमंत्री बनर्जी ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन पर गहरा शोक व्यक्ति किया और उनके परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की। ममता ने कहा, 'यह लिखते हुए बहुत दुख हो रहा कि भारत रत्न प्रणब मुखर्जी हमें छोड़ कर चले गएं। एक युग का अंत। वह दशकों तक पितातुल्य थे। सांसद के रूप में मेरी पहली जीत, मंत्रिमंडल में मेरे वरिष्ठ सहकर्मी और मेरे मुख्यमंत्री रहने पर उनके राष्ट्रपति बनने तक।'

उन्होंने कहा, 'बहुत सी यादें हैं। प्रणब दा के बिना दिल्ली यात्रा कल्पना से परे है। राजनीति से लेकर अर्थशास्त्र तक सभी विषयों में उन्हें ख्याति प्राप्त थी। हम उनके सदा कृतज्ञ रहेंगे। सदा उनकी कमी महसूस करेंगे। मेरी संवेदनाएं अभिजीत और शर्मिष्ठा के साथ है।'

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.