Sunday, Jun 07, 2020

Live Updates: Unlock- Day 6

Last Updated: Sat Jun 06 2020 07:55 PM

corona virus

Total Cases

246,544

Recovered

118,684

Deaths

6,936

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA80,229
  • TAMIL NADU28,694
  • NEW DELHI26,334
  • GUJARAT19,119
  • RAJASTHAN10,084
  • UTTAR PRADESH9,733
  • MADHYA PRADESH8,996
  • WEST BENGAL7,303
  • KARNATAKA4,835
  • BIHAR4,598
  • ANDHRA PRADESH4,112
  • HARYANA3,281
  • TELANGANA3,147
  • JAMMU & KASHMIR3,142
  • ODISHA2,608
  • PUNJAB2,415
  • ASSAM2,116
  • KERALA1,589
  • UTTARAKHAND1,153
  • JHARKHAND889
  • CHHATTISGARH773
  • TRIPURA646
  • HIMACHAL PRADESH383
  • CHANDIGARH304
  • GOA166
  • MANIPUR124
  • NAGALAND94
  • PUDUCHERRY90
  • ARUNACHAL PRADESH42
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS33
  • MEGHALAYA33
  • MIZORAM22
  • DADRA AND NAGAR HAVELI14
  • DAMAN AND DIU2
  • SIKKIM2
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
what did the country achieve due to undeclared emergency and public curfew

अघोषित इमरजेंसी और जनता कर्फ्यू से देश को क्या हुआ हासिल?

  • Updated on 3/23/2020

नई दिल्ली/कुमार आलोक भास्कर। पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने बीते गुरुवार को देश से 22 मार्च को जनता कर्फ्यू लागू करने की अपील क्या की- पूरे देश ने इसे सर आंखो पर रखा। निश्चित रुप से इस छोटे से अपील का प्रभाव न सिर्फ हिंदुस्तान ने देखा बल्कि विश्व ने भी ने पीएम मोदी के प्रयासों की सराहना की है।

कोरोना वायरस: देश के 75 जिलों में लॉकडाउन, जानें कब और किन परिस्थितियों में लगता है लॉकडाउन

जब लोगों ने पीएम के आह्वाण पर... 

लेकिन सवाल उठता है कि कोरोना वायरस से लड़ने के लिये यह प्रयास ठीक वैसे ही है जैसे समुद्र से एक बाल्टी पानी निकालना हो। हालांकि यह देखना सुखद रहा कि न सिर्फ दिल्ली बल्कि महानगरीय सभी शहरों और सुदूर गांवों तक लोगों ने ठीक 5 बजे अपने छतों,बॉलकोनी से थाली,ताली और घंटी लेकर एक शंखनाद किया तो चर्चा होने लगी। कोरोना के खिलाफ सरकार की अकेले भागीदारी से हमलोग इस जानलेवा महामारी को हरा नहीं सकते है। तो इसकी वजह साफ है कि पीएम यह बात से अच्छी तरह परिचित थे कि बिना लोगों को Panic महसूस कराये हुए स्वतः स्फूर्त अभियान चलाया जाए। इसके लिए उन्होंने जिस तरीके का ईजाद किया वोकाबिलेतारिफ है।

कोरोना को हराने के लिए एकजुट हुए ये दिग्गज नेता, देशवासियों से की ये अपील

पीएम ने लोगों की भागीदारी को बनाया हथियार

यहां गौर करने वाली बात है कि पीएम नरेंद्र मोदी भी सीधे तरह से देश में आपातकाल की घोषणा कर सकते थे। लेकि न तब उनके उस फैसले पर बहुत बड़ा प्रश्नचिन्ह खड़ा हो सकता था। इसमें कोई दो राय नहीं है। मुमकिन है कि आपातकाल की घोषणा पर विपक्षी पार्टियां भी CAA की तरह मोदी सरकार को कटघरे में खड़ी कर सकती थी। साथ ही जनता में भी गलत संदेश जाता।

Corona: लॉकडाउन पर लोगों की लापरवाही से नाराज हुए PM मोदी, कही ये बात

अपील भले ही छोटी लेकिन प्रभाव व्यापक

लेकिन भले ही पीएम नरेंद्र मोदी की यह अपील छोटी हो लेकिन इससे निश्चित रुप से जनता में एक जागरुकता आई है। जनता कर्फ्यू की सफलता को देखकर ही केंद्र सरकार और लगभग सभी राज्य सरकारों ने ल़ॉकडाउन करने का साहस दिखाया। इसके वावजूद कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे हमें यह बार-बार याद दिलाता है कि महज देशबंदी से काम नहीं चलेगा। इसके अलावा जनता को अपने-अपने घर में भी साफ-सफाई और मौहल्ले में निकलने से भी परहेज करना होगा।

कोरोना को हराने के लिए एकजुट हुए ये दिग्गज नेता, देशवासियों से की ये अपील

जब लोग होने लगे जमा तो...

कारण साफ है कि एक तरफ बहुतायत लोगों ने जनता कर्फ्यू को सफल बनाने में योगदान दिया लेकिन ठीक उसी समय कई जगह पर लोग इकट्ठा होकर भी थाली और ताली पीटने का काम सामूहिक तौर पर किया। जिसका जिक्र खुद पीएम मोदी ने भी आज किया है जो चिंताजनक है। इसके साथ ही शहरों के लॉकडाउन होने पर भी घर से निकलना मुनासिब समझा। जो दर्शाता है कि हम सब अभी-भी कोरोना वायरस की भयावहता को कमतर आंक रहे है। इसके अलावा जब लोगों से लगातार अपील की जा रही थी कि वे अपने घरों और शहरों में ही रहें। उस समय भी हजारों की संख्या में लोग रेलवे स्टेशन की ओर रुख किया ताकि अपने शहर या गांव जा सकें।

Lockdown के दौरान घर से निकल रहे लोगों के खिलाफ सरकार हुई सख्त, होगी इतने महीने की जेल

पलायन और पर्यटकों से बढ़ा कोरोना का मामला

यह तब हो रहा है जब केंद्र और राज्य सरकारों ने लगातार जागरुकता अभियान चला रखा है जिसका पालन अभी-भी नहीं करने की हम अपनी पुरानी आदतों से मजबूर है। भले ही ऐसे लोगों की संख्या हजारों में ही लेकिन कोरोना वायरस को फैलाने में सबसे ज्यादा ऐसे ही लोगों का रहा है जिन्होंने पलायन अपने शहरों से करना शुरु किया। हालांकि यह पलायन और यात्रा पहली बार सहज तरीके से विदेशों से भारत के लिये पर्यटकों और भारतवंशियों के लौटने से विकराल रुप ली है।

कोरोना के कहर से देश में महंगी हुई ये जरुरी चीजें, लोगों में खरीददारी की मची होड़

सभी को घर पर भी सचेत रहने की जरुरत

अब जबकि कोरोना वायरस से संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या लगातार लॉकडाउन के बाद भी बढ़ता जा रहा है तो ऐसे में देशवासियों को इस महामारी को गंभीरता से लेना होगा महज खानापूर्ति करने से काम नहीं चलेगा। इस वायरस से निजात पाने का दवाई अब तक नहीं खोजा जा सका है। लेकिन छोटे-छोटे कदम खासकरके साफ-सफाई और सोशल डिसटेंसिंग का गंभीरता से पालन करके हराया जा सकता है। जिसका हमसबको पालन करना चाहिये।

कोरोना से जुड़ी दस बड़ी खबरें यहां देखें 

Corona: लॉकडाउन पर लोगों की लापरवाही से नाराज हुए PM मोदी, कही ये बात

लाल निशान पर पहंचा शेयर बाजार,सेंसेक्स में 3100 से ज्यादा अंक की गिरावट

जानिए किस तरह आप बस चंद मिनटों में WiFi की Speed को बड़ा सकते है,ये है आसान तरीका

कोरोना संकट पर बोले PM मोदी- कुछ मिनटों की सावधानी से बच सकती है आपकी जान

जनता कर्फ्यू: थाली-ताली की गड़गड़ाहट से गूंज उठा भारत, लगा दी कोरोना की Class

कोरोना को हराने के लिए एकजुट हुए ये दिग्गज नेता, देशवासियों से की ये अपील

Corona: लॉकडाउन पर लोगों की लापरवाही से नाराज हुए PM मोदी, कही ये बात

कोरोना का खौफ: 31 मार्च तक दिल्ली बंद, जानें कौन सी सुविधाएं रहेंगी जारी

कोरोना वायरस: महाराष्ट्र में 24 घंटे में दूसरी मौत, देश में मरने वालों की संख्या हुई 8

कोरोना वायरस: देश के 75 जिलों में लॉकडाउन, जानें कब और किन परिस्थितियों में लगता है लॉकडाउन

 

comments

.
.
.
.
.