Wednesday, Jun 19, 2019

लोकसभा चुनाव को लेकर WhatsApp ने किया ये बड़ा बदलाव

  • Updated on 4/3/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़े जाने को लेकर उपयोक्ताओं को मिली नयी सुविधाएं तीन अप्रैल आम चुनाव के मद्देनजर पारर्दिशता लाने के प्रयासों के तहत व्हाट्सएप ने एक नयी पहल की है। कंपनी उपयोक्ताओं को यह तय करने की सुविधा देने जा रही है कि उन्हें किसी व्हाट्सएप  ग्रुप में जोड़ा जा सकता है या नहीं।

फेसबुक की स्वामित्व वाली सोशल मीडिया कंपनी व्हाट्सएप ने एक बयान में कहा, व्हाट्सएप ग्रुप ग्रुप परिजनों, दोस्तों, सहर्किमयों, सहपाठियों एवं अन्य लोगों को एक साथ जोडऩे का माध्यम बना रहेगा। चूंकि लोग महत्वपूर्ण संवाद के लिये ग्रुप से जुड़ते हैं, उन्होंने अपने अनुभव के बारे में अधिक नियंत्रण की मांग की।

अब PUBG खेलने के लिए करनी होगी जेब ढीली, ये हैं Plans

कंपनी ने प्राइवेसी सेटिंग में एक नये फीचर की शुरुआत की है। इसके जरिये उपयोक्ता यह तय कर सकते हैं कि उन्हें किसी व्हाट्सएप ग्रुप में कौन जोड़ सकता है। इसके लिये तीन विकल्प दिये गये हैं। पहले विकल्प के तहत उपयोक्ता को कोई भी किसी ग्रुप में नहीं जोड़ सकता है। दूसरे विकल्प के तहत उपयोक्ता को सिर्फ वही लोग ग्रुप में जोड़ सकते हैं जो पहले से उनकी कांटैक्ट सूची में जुड़े हुए हों। तीसरे विकल्प में हर किसी को ग्रुप में जोडऩे की सुविधा दी गयी है।

भारत में जल्द लॉन्च हो सकता है 40 मेगापिक्सल कैमरे से लैस Huawei P30 Pro

अभी तक किसी उपयोक्ता को कोई भी व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ सकता था। इनके अलावा व्हाट्सएप  ने एक अन्य फीचर की भी शुरुआत की है। यदि कोई आपको किसी ग्रुप में जोड़ता है तो प्राइवेट चैट के जरिये इसका लिंक आपको मिलेगा। यदि आप तीन दिन के भीतर निमंत्रण स्वीकार कर लेते हैं तो आप ग्रुप में शामिल हो जाएंगे। यदि आपने तीन दिन तक निमंत्रण स्वीकार नहीं किया जो वह स्वत: समाप्त हो जाएगा। कंपनी ने कहा कि इन फीचरों की शुरुआत बुधवार से की गयी है। उसने कहा कि आने वाले सप्ताह में ये फीचर दुनिया भर में उपलब्ध हो जाएंगे।   

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.