Tuesday, Jan 25, 2022
-->
when bharatvanshi dances on modis rhythm, he will be left watching

मोदी के ताल पर जब थिरकेंगे भारतवंशी तो देखते रह जाएंगे ट्रंप

  • Updated on 9/22/2019

नई दिल्ली/कुमार आलोक भास्कर। पीएम नरेंद्र मोदी अमेरिका पहुंच चुकें है। जहां उनके स्वागत में एयरपोर्ट से लेकर 1 सप्ताह के यात्रा के दौरान भारत के पीएम को जिस तरह की तरजीह अमेरिका दे रहा है, शायद ही किसी देश के राष्ट्राध्यक्ष को मिलेगा। लेकिन सबसे बड़ा इवेंट टेक्सास राज्य के शहर ह्यूस्टन में होने जा रहा है जिसे हाउडी मोदी का नाम दिया गया है। इस कार्यक्रम का सबसे बड़ा आकर्षण खुद पीएम नरेंद्र मोदी रहेंगे तो वहीं दुनिया के सबसे ताकतवर अमेरिका के राष्ट्रपति डौनाल्ड ट्रंप भी मौजूद रहेंगे। यह पहला मौका होगा जब कोई अमेरिकी राष्ट्रपति भारतीय पीएम के साथ मंच साझा रहेंगे। 


Houston: ऊर्जा क्षेत्र के CEO के साथ पीएम मोदी ने की बैठक, हुए बड़े फैसले

पीएम के संबोधन पर रहेगी सबकी नजर
पीएम नरेंद्र मोदी की यह अमेरिकी यात्रा इसलिये भी महत्वपूर्ण है कि जब वे केंद्र में दोबारा सत्ता में लौटे तो यह उनका पहला यात्रा तो है ही इसके अलावा जम्मू और कश्मीर से धारा 370 हटाने के बाद UN को पहली बार संबोधित भी करेंगे। दूसरी तरफ पाकिस्तान के पीएम इमरान खान भी UN के सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिये अमेरिका पहुंच चुके है। लेकिन जिस तरह से पीएम मोदी के स्वागत में अमेरिकी मंत्री से लेकर अधिकारी पलके बिछाए हुए थे, वो सम्मान शायद इमरान खान को नहीं मिला। लेकिन इससे भी महत्वपूर्ण है कि जब इमरान खान UN को संबोधित करेंगे तो क्या फिर से कश्मीर राग अलापेंगे। इसके बाद फिर वहीं दुःसाहस कि धारा 370 हटाने को लेकर विश्व से गुहार ही लगाएंगे तो उसके जवाब में पीएम मोदी का भाषण बहुत ही महत्वपूर्ण होगा।

ह्यूस्टन पहुंच कर मोदी ने कहा ‘Howdy Houston’

 

 

ट्रंप भी मोदी के आज होंगे मुरीद

लेकिन आज जो हाउडी मोदी कार्यक्रम में पीएम नरेंद्र मोदी का लाइव भाषण सुनने जब ताकतवर देश के राष्ट्रपति ट्रंप भी मौजूद रहेंगे तो उनकी उपस्थिति में पीएम क्या कहते है यह बहुत ही दिलचस्प होगा। हालांकि इतना तय है कि आज ट्रंप भी मोदी के मुरीद तो हो ही जाएंगे। इससे इनकार नहीं किया जा सकता है। राष्ट्रपति ट्रंप आज जब भारत से दूर उनके ही धरती पर खड़े होकर पीएम नरेंद्र मोदी के लाइव भाषण को देखेंगे और सुनेंगे तो उन्हें यह जरुर महसूस होगा कि आखिर क्यों लोगों में उनकी इतनी लोकप्रियता है। आलम तो यह है कि लगभग 50,000 से ज्यादा भारतवंशी हाउडी मोदी के कार्यक्रम को सुनने पहुंच चुके है। पूरा शहर तो मोदीमय हो चुका है। रंगारंग कार्यक्रम से यहां लोगों का मनोरंजन किया जा रहा है। जो देखने लायक है। 

US में भी PM Modi ने पेश की स्वच्छता अभियान की मिसाल, कुछ ऐसा कर सब को चौंकाया

मोदी ने उर्जा क्षेत्र के दिग्गजों से की मुलाकात

पीएम नरेंद्र मोदी ने अमेरिका पहुंचते ही सबसे पहले उर्जा क्षेत्र में सहयोग के लिये लगभग 17 कंपनियों के सीईओ से मुलाकात की है। इन कंपनियों की ताकत की अगर बात करें तो यह उपस्थिति लगभग 150 देशों तक है। भारत उर्जा को लेकर कितना चिंतित है इस वार्ता से ही झलकता है। लेकिन इतना तो तय है कि आने वाले दिनों में इस तरह की बैठक से भारत और अमेरिका के बीच के संबंध और मजबूत होंगे। 2017 से ही भारत अमेरिका से क्रूड ऑयल खरीदता है जो आज प्रतिदिन 1,84,000 बैरल तेल प्रतिदिन पर पहुंच गया है। विश्व में भारत तीसरा तेल में आयात करने वाला देश है जिसको देखते हुए यह बैठक बहुत ही सार्थक रहा है।
 

भारतीय समुदाय के लोगों से मिले मोदी  

इसके अलावा पीएम नरेंद्र मोदी ने सिख और बोहरा समुदाय के अलावा कश्मीरी पंडित से भी मुलाकात की है। उनका पंडितों से यह मुलाकात बहुत ही भावुकतापूर्ण रहा है। जहां कश्मीरी पंडितों ने पीएम को धारा 370 हटाने के बाद के बदले माहौल के लिये धन्यवाद भी दिया है। मोदी ने भी अपने अंदाज में उनके सालों के दर्द को मरहरम लगाते हुए जरुर कहा कि आपने अपने कश्मीर के लिये कष्ट बहुत ही झेला है। वहां से निर्वासित होकर आपको रहना पड़ा है। हम सभी जानते है कि पीएम अपने इसी अंदाज से लोगों के दिल में राज करते है। यह खासियत ही उन्हें अन्य नेताओं से अलग खड़ा करता है।


ऊर्जा क्षेत्र के अधिकारियों के साथ सफल रही मोदी की बैठक: विदेश मंत्रालय

चीन और पाकिस्तान की भी हाउडी मोदी पर रहेगी नजर     
आज अगर बात होगी तो सिर्फ हाउडी मोदी का, जिसमें कुछ ही देर बाद पीएम नरेंद्र मोदी हिस्सा लेंगे तो अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी देखते रह जाएंगे। लेकिन अगर भारत और अमेरिका में जहां उत्साह है वहीं पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान और चीन की भी नजर रहेगी कि ट्रंप आखिर क्या मोदी के सम्मान में बोलते है। साथ ही अमेरिका जिसने भारत का जो व्यापार का दर्जा खत्म कर दिया था उसे फिर से बहाल किया जाएगा या नहीं। यह भी देखना महत्वपूर्ण होगा।

comments

.
.
.
.
.