Sunday, Feb 23, 2020
When contacted Modi faced an obstacle in response

मोदी से संपर्क किया तो जवाब में करना पड़ा अवरोध का सामना- इमरान खान

  • Updated on 1/24/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran khan) ने दावा किया है कि पद संभालने के ठीक बाद उन्होंने शांति के प्रस्ताव के साथ भारत के अपने समकक्ष नरेंद्र मोदी (Narendra modi) से संपर्क किया तो उन्हें अवरोध का सामना करना पड़ा।

इमरान से मिलने के बाद ट्रंप ने फिर जताई कश्मीर पर मध्यस्थता की इच्छा, कही ये बात

पुलवामा हमले पर सबूत दिए बजाए भारत ने पाकिस्तान पर ही 'बम फोड़' दिया
विश्व आर्थिक मंच 2020 के सम्मेलन से इतर पत्रिका 'फॉरेन पॉलिसी' को दिए एक साक्षात्कार में खान ने यह भी कहा कि उन्होंने मोदी से कहा था कि अगर पुलवामा आतंकी हमले में पाकिस्तानी संलिप्तता का कोई भी सबूत दिया गया तो पाकिस्तान सख्ती से कार्रवाई करेगा लेकिन इसकी बजाए भारत ने पाकिस्तान पर ही 'बम फोड़' दिया।

चीन कोरोना वायरस: अबतक 9 लोगों की मौत, अमेरिका भी पहुंची घातक बीमारी

सैन्य तरीके से संघर्ष का समाधान नहीं हो सकता
पिछले साल जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने के बाद दोनों पड़ोसी देशों के बीच तनाव और गहरा गया। उसके बाद से खान तनाव कम करने के लिए लगातार वैश्विक दखल की मांग कर रहे हैं साक्षात्कार में खान ने कहा कि उनका अटूट विश्वास है कि सैन्य तरीके से संघर्ष का समाधान नहीं हो सकता।

नेपाल में संदिग्ध गैस रिसाव के कारण आठ भारतीयों की हुई मौत

पीएम मोदी से मुलाकात पर करना पड़ा अवरोध का सामना 
खान ने कहा कि पद संभालने के बाद उन्होंने तुरंत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से संपर्क किया। लेकिन, प्रतिक्रिया देखकर वह भौचक रह गए। खान ने कहा कि उपमहाद्वीप में दुनिया के सबसे ज्यादा गरीब लोग हैं और गरीबी से मुकाबले के लिए सबसे बेहतर तरीका है कि दो देशों के बीच हथियारों पर धन खर्च करने की जगह कारोबारी संबंध हो। यही बात मैंने प्रधानमंत्री मोदी से कही। लेकिन अवरोध का ही सामना करना पड़ा।

comments

.
.
.
.
.