Sunday, Apr 18, 2021
-->
who chief thanked pm narendra modi for supporting the covax initiative pragnt

WHO प्रमुख की तारीफ पर बोले PM मोदी- 'कोरोना महामारी से निपटने में हम सब साथ'

  • Updated on 2/27/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख टेड्रोस अदनोम घेब्रेयेसस (Tedros Adhanom Ghebreyesus) ने विकासशील देशों को कोराना वायरस (Coronavirus) की वैक्सीन मुहैया कराने और 'कोवैक्स' कार्यक्रम का समर्थन करने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की तारीफ की थी। अब इस पर प्रधानमंत्री मोदी की प्रतिक्रिया आई है। पीएम मोदी ने डब्ल्यूएचओ के चीफ के तारीफ वाले ट्वीट पर उनका धन्यवाद किया है। 

SC का बड़ा फैसला- लाइफ पार्टनर की प्रतिष्ठा को चोट पहुंचाने पर हो सकता है तलाक

WHO प्रमुख से बोले PM मोदी
पीएम मोदी ने विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख टेड्रोस अदनोम के ट्वीट का जवाब देते हुए कहा, 'डॉ. टेड्रोस शुक्रिया। इस महामारी से निपटने में हम सब साथ हैं। भारत, दुनिया की भलाई के लिए संसाधन, अनुभव और ज्ञान साझा करने को लेकर प्रतिबद्ध है।'

गौरतलब है कि डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेड्रोस अदनोम घेब्रेयेसस ने विकासशील देशों को कोविड-19 का टीका मुहैया कराने के लिए 'कोवैक्स' (COVAX) कार्यक्रम का समर्थन करने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शुक्रिया अदा किया है।

WHO चीफ ने की PM मोदी की तारीफ, कहा- आपकी वजह से 60 देशों में टीकाकरण

WHO ने की PM मोदी की तारीफ
डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक ने गुरुवार को एक ट्वीट कर लिखा था, 'टीका कार्यक्रम का समर्थन करने के लिए भारत और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद। कौवैक्स कार्यक्रम को लेकर और कोविड-19 टीके की खुराक साझा करने के लिए आपकी प्रतिबद्धता से 60 से ज्यादा देशों में उनके स्वास्थ्यर्किमयों और प्राथमिकता समूह वाले अन्य लोगों का टीकाकरण शुरू करने में मदद मिली है। आपने जो उदाहरण पेश किया है, मुझे आशा है कि दूसरे देश भी इसका अनुसरण करेंगे।'

जानें बुजुर्गों और गंभीर बीमारी से ग्रसित लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाने के लिए क्या करना होगा

भारत करेगा और टीके की आपूर्ति
इस सप्ताह की शुरुआत में विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा था कि विकासशील देशों में आपूर्ति के लिए कोवैक्स पहल के तहत भारत और टीके की आपूर्ति करेगा। 'कोवैक्स' पहल का मकसद कोविड-19 टीके के विकास और उत्पादन के काम में तेजी लाना और दुनिया में प्रत्येक देश तक समानता के साथ टीके मुहैया कराना है।

मार्च से बुजुर्गों को भी वैक्सीन, पैसा देकर निजी केंद्रों पर भी लगवा सकते हैं टीका, जानें नियम

31 मार्च तक लागू रहेंगे कोविड दिशा-निर्देश
बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि कोरोना पर मौजूदा दिशानिर्देश 31 मार्च तक लागू रहेंगे। हालांकि कोविड-19 के उपचाराधीन और संक्रमण के नए मामलों में काफी कमी आई है, लेकिन निगरानी रोकथाम और सतर्कता बनाए रखने की जरूरत है। राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को लक्षित आबादी समूह का टीकाकरण करने में तेजी लाने की सलाह भी दी गई है ताकि संक्रमण की संख्या को तोड़ा जा सके और महामारी को खत्म किया जा सके। मौजूदा दिशा निर्देशों के तहत सिनेमा हॉल और थिएटर को कहीं अधिक दर्शकों के साथ संचालित करने की अनुमति भी दी गई है।

ममता ने पूछा- क्या चुनाव तारीखें मोदी, शाह के सुझावों के मुताबिक घोषित की गईं?

आबादी के हिसाब से धीमा टीकाकरण 
ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के आवर वर्ल्ड इन आंकड़ो के मुताबिक अभी तक देश में कुल 1,34,72,643 लोगों को ही टीका लगा है जबकि मार्च के अंत तक देश में 3 करोड़ को टीका लगना है, भारत प्रति सौ लोगों में मात्र एक को टीका लगा रहा। जबकि ब्रिटेन में हर सौ लोगों पर 27 और अमेरिका 19 लोगों को टीका लग रहा है। भारत का लक्ष्य जुलाई तक 30 करोड़ लोगों को टीका लगाना है, जिसमें वह काफी पीछे है। 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

comments

.
.
.
.
.