Friday, Oct 07, 2022
-->
why did amit shah have to give clarification on chirag nitish know the reason for this albsnt

आखिर अमित शाह को क्यों देनी पड़ी चिराग-नीतीश पर सफाई, जानें इसकी वजह...

  • Updated on 10/20/2020

नई दिल्ली/कुमार आलोक भास्कर। बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर कयासों का दौर जारी है। लेकिन जब गृह मंत्री अमित शाह देश- दुनिया से लेकर बिहार के ताजा राजनीतिक हालात पर बयान देतें है तो उसे कहीं से हल्के में नहीं लिया जा सकता। बीजेपी के कद्दावर नेता ने बिहार चुनाव में चिराग पासवान के बेबाक बोल से लेकर 2015 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी के सरकार नहीं बनने पर अपनी दो टूक बात कही है।

तेजस्वी ने साधा तीर पर निशाना तो क्यों तिलमिला गए नीतीश, जानें विस्तार से...

गृह मंत्री अमित शाह ने एक समाचार चैनल को दिये interview में दावा किया कि बिहार एनडीए का चेहरा नीतीश कुमार ही है। भले ही चिराग बीजेपी को लेकर सॉफ्ट कार्नर रखें और नीतीश पर तीखा प्रहार करते रहें। उन्होंने कहा कि जल्द ही पीएम नरेंद्र मोदी और वे भी बिहार का दौरा करेंगे। जिसमें वे प्रचंड बहुमत से एनडीए सरकार बनाने की अपील करेंगे।

चिराग के MasterStroke से बिहार में मची खलबली, जाने लोजपा नेता ने क्या कहा...

अमित शाह ने यह भी कहा कि 2015 में उनकी पार्टी भले ही अच्छा प्रदर्शन किया हो लेकिन सामाजिक समीकरण उनके पक्ष में नहीं रहने के कारण सरकार नहीं बना सकें। लेकिन इस बार स्थिति इसके उलट है। हालांकि अमित शाह ने एक सवाल के जवाब में चुनावी फिजा से इतर चीन  और पाकिस्तान के साथ दो मोर्चे पर युद्ध की अटकलें को भी खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि भारत अपनी एक-एक इंच की रक्षा करने के लिये प्रतिबद्ध है। लेकिन बातचीत का रास्ता हमेशा खुला हुआ है। दोनों देशों के बीच बातचीत चल रही है।

चिराग के MasterStroke से बिहार में मची खलबली, जाने लोजपा नेता ने क्या कहा...

वहीं उन्होंने सुशांत केस से बिहार चुनाव में असर को लेकर कहा कि एक वर्ग इसे आधार बनाकर वोट डाल सकता है। इससे इनकार नहीं किया जा सकता है। जबकि सुशांत केस के दौरान ही टीआरपी घोटाले के उजागर होने पर उन्होंने अफसोस जताया है। उन्होंने कहा कि मीडिया को खुद Check & Balance की नीति पर चलना होगा। 

चिराग को लेकर नीतीश के जिद्ध से BJP पशोपेश में, मोदी कैबिनेट में शामिल पर साधी चुप्पी

दूसरी तरफ कोरोना की चपेट में खुद के आने के बाद अकेलेपन के दौर से कैसे गुजर रहे थे- के सवाल के जवाब पर कहा कि यह समय वे पढ़ाई-लिखाई में बिताया। काफी दिनों से वे अच्छी किताबें पढ़ नहीं पा रहे थे। इस समय का उपयोग किया।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.