Saturday, Jul 24, 2021
-->
will accept the decision of the president- captain amarinder singh musrnt

Punjab Congress अध्‍यक्ष पर फैसला जल्द! रावत से मिलने के बाद नरम पड़े कैप्टन

  • Updated on 7/17/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के महासचिव और कांग्रेस के पंजाब प्रभारी हरीश रावत से शनिवार को मिलने के बाद कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष द्वारा लिया गया कोई भी फैसला सभी को मान्य होगा। अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू में मतभेद की वजह से पंजाब कांग्रेस में बढ़े तनाव के बीच रावत चंडीगढ़ गए हैं। ऐसी अटकलें हैं कि क्रिकेटर से राजनेता बने सिद्धू को पंजाब में कांग्रेस इकाई का प्रमुख बनाया जा सकता है।

रावत हेलीकॉप्टर से दोपहर 12 बजे चंडीगढ़ पहुंचे और वहां से सीधे मुख्यमंत्री के मोहाली स्थित फार्म हाउस गए। इससे एक दिन पहले अमरिंदर सिंह ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से नवजोत सिंह सिद्धू को महत्वपूर्ण पद देने को लेकर आपत्ति जताते हुए पत्र लिखा था। रावत की यह यात्रा अमरिंदर सिंह को मनाने की कोशिश के तौर पर देखी जा रही है।

माना जा रहा है कि अमरिंदर सिंह ने कहा कि सिद्धू (जाट सिख) को राज्य में पार्टी का प्रमुख बनाए जाने से हिंदू समुदाय का प्रतिनिधित्व करने वाले पार्टी के वरिष्ठ नेता खफा हो सकते हैं और इससे 2022 के विधानसभा चुनाव में पार्टी की संभावनाओं का नुकसान पहुंच सकता है।इससे एक दिन पहले अमरिंदर सिंह ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से नवजोत सिंह सिद्धू को महत्वपूर्ण पद देने को लेकर आपत्ति जताई थी।

ऐसी अटकलें हैं कि क्रिकेटर से राजनेता बने सिद्धू को पंजाब में कांग्रेस इकाई का प्रमुख बनाया जा सकता है। रावत की यह यात्रा अमरिंदर सिंह को मनाने की कोशिश के तौर पर देखी जा रही है क्योंकि वह सिद्धू को पार्टी की प्रदेश इकाई का अध्यक्ष बनाए जाने के खिलाफ थे।

इससे पहले, नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रमुख सुनील जाखड़ से मुलाकात की। यह मुलाकात ऐसे समय में हुई जब क्रिकेटर से राजनेता बने सिद्धू के कांग्रेस की राज्य इकाई का अगला अध्यक्ष बनने की अटकलें तेज हैं।      यह मुलाकात आधे घंटे से ज्यादा समय तक चली और इसके बाद सिद्धू ने जाखड़ को बड़ा भाई और मार्गदर्शक बताया। वहीं, जाखड़ ने सिद्धू को सक्षम व्यक्ति करार दिया।

सिद्धू को प्रदेश अध्यक्ष बनाने की संभावना पर अमरिंदर ने कराया विरोध दर्ज 

एक सहयोगी ने बताया कि सिद्धू पटियाला स्थित अपने आवास से निकले और कऱीब 65 किलोमीटर की यात्रा कर कऱीब 10 बजकर 45 मिनट पर जाखड़ के पंचकूला स्थित आवास पहुंचे। यह बैठक ऐसे समय में हुई जब सिद्धू और मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के बीच मतभेद को लेकर पंजाब कांग्रेस इकाई में घमासान जारी है। शुक्रवार को सिद्धू ने नयी दिल्ली में पार्टी प्रमुख सोनिया गांधी से उनके आवास पर मुलाकात की।

पंजाब कांग्रेस में बदलाव की संभावना के बीच सोनिया से मिल कर वापस लौटे सिद्धू

इस बैठक में एआईसीसी के महासचिव और कांग्रेस के पंजाब प्रभारी हरीश रावत और कांग्रेस नेता राहुल गांधी मौजूद थे। सूत्रों ने बताया कि सिद्धू को पार्टी में अहम पद दिए जाने की खबरों से अमरिंदर सिंह नाराज हैं और उन्होंने इस घटनाक्रम पर आपत्ति जताते हुए सोनिया गांधी को पत्र लिखा।

comments

.
.
.
.
.