Sunday, Nov 28, 2021
-->
wine and beer will be sold cheaply after the lockdown in uttar pradesh prshnt

UP में लाॅकडाउन के बाद सस्ती बिकेगी शराब और बीयर! जानें कारण

  • Updated on 4/24/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश में कोरोना वायरस के चलते लॉक डाउन में जरूरी सेवाओं को छोड़कर सभी सेवाएं बंद है। ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि उत्तर प्रदेश में लॉक डॉन खुलने के पहले हफ्ते में देसी व अंग्रेजी शराब और बीयर सस्ते बिक सकती है। बताया जा रहा है कि यह नौबत राज्य के आबकारी विभाग की ओर से गुरुवार को लिए गए फैसलों की वजह से हो सकता है। आबकारी विभाग के प्रमुख संजय आर.भूसरेड्डी ने इस बारे में शासनादेश जारी किया है।

अर्णब गोस्वामी को SC से राहत, गिरफ्तारी पर तीन सप्ताह तक रोक

7 दिनों में बेचना होगा पूराना स्टॉक
बता दें कि लॉक डाउन की वजह से प्रदेश में शराब और बीयर की बिक्री प्रभावित हुई है और दुकानों लाइसेंस आवंटन के पहले से तय शर्तों को कोरोना संकट के कारण पुरा ना कर पाने की वजह से फुटकर और थोक विक्रेताओं को भारी नुकसान सहना पड़ रहा है। जिसे लेकर शासनादेश जारी किया गया है, जिसमें कहा गया है कि देसी अंग्रेजी शराब और बीयर की दुकानों पर जो स्टॉक बचा हुआ है उसे लॉक डाउ खुलते ही 7 दिनों के अंदर बेचना होगा जिसके बाद बचे हुए स्टॉक को नष्ट कर दिया जाएगा।

इस शासनादेश के बाद सभी थोक और फुटकर विक्रेता अपने स्टॉक को लॉक डाउन खुलते ही शुरुआती 7 दिनों में बेचने के लिए कई कदम उठा सकते हैं जिसमें शराब और बीयर के दाम को घटाया जा सकता है। इसके अलावा बार और क्लब के संचालकों को स्टॉक खत्म करने के लिए लॉक डाउन खुलते ही एक पखवारे की अवधि की अनुमति दी गई है।

प. बंगाल: राज्यपाल ने CM ममता पर साधा निशाना, कहा- हो रहा अल्पसंख्यक का 'खुल्लम खुल्ला तुष्टीकरण'

दुकानों में लाखों में है स्टॉक
बता दें कि इस शासनादेश के अंतर्गत प्रदेश में ऐसी शराब की दुकान है जिनके पास लाइसेंस या नवीनीकरण हो गया है और जिसका नहीं हुआ है कुल मिलाकर 12467 सात दुकाने हैं। जिसमें करीब 736830 देसी शराब बचा हुआ इन सभी शराब का अनुमानित रकम देखा जाए तो लगभग 215.20  करोड़ है।

इसी तरह से देसी शराब के थोक विक्रेताओं जिनके पास लाइसेंस का नवीनीकरण हुआ है या जिनका नहीं भी हुआ है उनके पास लगभग 249954  पेटी देसी शराब का स्टॉक है और इसका अनुमानित मूल्य 215 करोड़ रुपए है वहीं अंग्रेजी शराब और बीयर की फुटकर दुकानों और मॉडल शॉप पर लगभग 960036 शराब है पेटी शराब है।

गुजरात: कोरोना की चपेट में आए सेना के 3 जवान, एक ही ATM से निकाले थे पैसे

व्यपारियों को मिलेगी छूट
बता दें कि शासनादेश में कहा गया है कि लॉक डाउन खोलने के 24 घंटे के भीतर थोक और फुटकर विक्रेता अपने पूरे स्टॉक की घोषणा करेंगे। इसके अलावा शासनादेश में वित्तीय वर्ष 2020 21 के लिए थोक और फुटकर कारोबार करने वाले लाइसेंस हासिल करने के लिए, हासिल कर चुके देसी शराब के उठान और अप्रैल के न्यूनतम मासिक कोटे की अनिवार्यता में छूट प्रदान की जाएगी। इसी तरह बीते वित्तीय वर्ष के अंतिम महीने में देसी शराब के न्यूनतम गारंटी कोटे के मुताबिक उठान पर पाने वाले कार्य व्यापारियों को भी छूट दी गई है।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.