Friday, Dec 03, 2021
-->
women-constable-died-from-coronavirus-4-days-before-the-baby-born prsgnt

महिला सिपाही की मौत के बाद मिली कोरोना पॉजिटिव होने की खबर, 4 दिन पहले ही बच्चे को दिया था जन्म

  • Updated on 5/7/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। देशभर से कोरोना के मामले हर दिन तेजी से सामने आ रहे हैं इसी बीच कोरोना के खिलाफ जंग लड़ती एक कोरोना वॉरियर की बच्चे के जन्म के 4 दिन बाद जान चली गई।

बताया जा रहा है कि यूपी के कानपुर जिले में तैनात एक महिला सिपाही कोरोना संक्रमित पाई गई। लेकिन ये खबर उसकी मौत के बाद मिली। कानपुर में तैनात सिपाही विनीता की बच्चे का कुछ दिन पहले ही जन्म हुआ था कि कुछ दिन बाद ही उनकी मौत हो गई। विनीता की मौत से पूरा इलाका शोकाकुल हो गया है।

कोरोना मरीजों की स्किन पर ऐसे दिखता है वायरस का असर, पढ़ें रिपोर्ट

ये है पूरा मामला
बताया जा रहा है कि विनीता की ससुराल आगरा के सिकंदरा थाना क्षेत्र के ककरेठा में है। अपनी प्रेगनेंसी के लास्ट माह में वो कानपुर से आगरा आई थी। यहीं उनकी नार्मल डिलीवरी हुई। विनीता के घर बच्चे के जन्म की खुशियां फैली हुई थीं। लेकिन कोरोना के डर के चलते विनीता को जल्द ही कोरोना टेस्ट सैंपल लेकर घर भेज दिया गया। लेकिन किस्मत को कुछ और मंजूर था। सुबह होते ही अचानक विनीता की तबियत बिगड़ने लगी और फिर अस्पताल से अस्पताल परिवार विनीता को लेकर भटकता रहा।

लेकिन इस बीच गाड़ी में ही विनीता की मौत हो गई। ठीक उसी वक्त फोन से पता लगा कि विनीता कोरोना पॉजिटिव थी और डॉक्टर्स की टीम उन्हें लेने आ रही है। ऐसे परिवार ने कोरोना का खौंफ देखते हुए विनीता का शव गाड़ी में ही छोड़ दिया और परिवारीजन घर पर विनीता की मौत का विलाप करने लगे।

ऑनलाइन बेचा जा रहा है कोरोना मरीजों के लिए ये स्पेशल खून, कीमत है 10 लाख

5 घंटे तक गाड़ी में पड़ी रही लाश
परिजन विलाप करते रहे और 5 घंटों तक विनीता का शव गाड़ी में यूंही पड़ा रहा। कोरोना पॉजिटिव की खबर देने वाली कॉल में कहा गया था कि जल्द उन्हें लेने आयेंगे लेकिन मौत की खबर सुन कर शायद वो टीम सुस्ता गई और कॉल के 5 घंटों के बाद भी वो नहीं आई।

इसके बाद आगरा डीएम तक जब ये मामला पहुंचा तब डॉक्टर्स की टीम आ कर विनीता का शव ले गई। क्योंकि विनीता कोरोना पॉजिटिव पाई गईं इसलिए नियमों के तहत उनका अंतिम संस्कार हुआ लेकिन उनकी अचानक मौत सभी को गमगीन कर गई।

घर जाने की आस में निकले मजदूरों को पुलिस ने पीट कर भगाया, मजदूर बोले- अब कभी नहीं वापस आयेंगे...

विभाग गम में डूबा
विनीता का अचानक यूं चले जाना उन्हें विभाग के लोगों को भी दुःख दे गया है। उनकी मौत के बाद नोएडा-2 एसीपी रजनीश ने दुख जताते अपने ट्वीटर अकाउंट पर उन्हें याद करते हुए अपनी सम्वेदनाएं व्यक्त की।

उन्होंने लिखा, “मेरे पास शब्द नहीं हैं,इस कोरोना योद्धा के लिए,, एक छोटा सा बच्चा और दूसरा बच्चा अभी पांच दिन का है,,कोरोना से युद्ध लड़ते हुए इस महिला पुलिसकर्मी की मृत्यु होना दिल को झकझोर देना है,, मेरे पास शब्द नहीं हैं निशब्द हूं!

तंजानिया के राष्ट्रपति जॉन मागुफुली ने चीन से आई कोरोना किट को कहा ‘खराब’, जाने क्यों?

यूपी में कोरोना
बताते चले कि उत्तर प्रदेश में भी कोरोना का कहर जोरो पर है। आज यानी गुरूवार को यहां 118 नए मामले सामने आए हैं। जिसके बाद राज्य में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2998 हो गई है। वहीँ, अब तक 1130 मरीज ठीक हो चुके हैं और अब तक 60 लोगों की मौत हो चुकी है।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.