Tuesday, May 21, 2019

इस साल शुरू होगा दिल्ली मेट्रो के सबसे छोटे रूट पर काम, इन स्टेशनों पर बढे़गी रफ्तार

  • Updated on 3/16/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली मेट्रो फेज तीन के अंतिम कॉरिडोर के सबसे छोटा रूट द्वारका-नजफगढ़ (4.295 कि.मी.) इस वर्ष सितम्बर तक पूरा जाएगा। सबसे छोटा कॉरिडोर होने के बावजूद जमीन मिलने में ही करीब चार वर्ष लग गए। 

दिल्ली मेट्रो के सबसे सबसे छोटे रूट पर केवल तीन स्टेशन होंगे। डीएमआरसी के अनुसार जनवरी 2019 तक इस रूट पर 93.5 प्रतिशत सिविल वक्र्स का काम पूरा हो गया है। जमीन व अन्य तकनीकी कारणों से इस छोटे रूट को शुरू करने के लिए अब तक कई बार डेडलाइन बदली जा चुकी है।

रिपोर्ट में हुआ बड़ा खुलासा, अल्पसंख्यक ईसाईयों के कब्रिस्तानों पर हुआ कब्जा

स्टैंण्डर्ड गेज कॉरिडोर पर बने रहे द्वारका-नजफ गढ़ रूट पर 2.754 किलोमीटर एलिवेटेड और 1.541 किलोमीटर भूमिगत होगा। इस रूट पर केवल नजफगढ़ भूमिगत स्टेशन है। जबकि द्वारका व नांगलोई एलिवेटेड स्टेशन है।

द्वारका स्टेशन लाइन तीन और लाइन नौ के बीच एक इंटरचेंज स्टेशन के रूप में कार्य करेगा। उल्लेखनीय है कि द्वारका-नजफगढ़ मेट्रो रूट को सितंबर 2012 में मंजूरी मिली थी और इस रूट को दिसंबर 2015 तक पूरा करने की बात कही गई थी। 

बेटे के नाम खत लिख मां ने कर लिया सुसाइड! पढ़े पूरा वाक्या

नजफगढ़ से ढांसा बस स्टैंड तक भी मेट्रो 
द्वारका से नजफगढ़ के बीच मेट्रो दौडऩे के बाद नजफगढ़ से ढांसा बस स्टैंड के बीच दिल्ली मेट्रो का विस्तार होगा। इसकी लंबाई 1.18 किलोमीटर होगी और इस पर 565 करोड़ रूपए की लागत आएगी।

आज देहरादून दौरे पर राहुल गांधी, शहीदों के परिजनों से करेंगे मुलाकात 

इस रूट पर भूमिगत खंड का कार्य दिसम्बर 2020 तक पूरा होगा और इससे मेट्रो को प्रतिदिन 10 हजार अधिक यात्री मिलेंगे। यह रूट नांगलोई, ढांसा, बहादुरगढ़ और उससे लगे इलाकों के लोगों की यात्रा जरूरतों को पूरा करेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.