Wednesday, Mar 20, 2019

लगातार कम हो रही है नौकरीपेशा महिलाओं की संख्या, जानें क्या है वजह?

  • Updated on 3/7/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। उद्योग क्षेत्र की बदलती जरूरतों को देखते हुए देश में कौशल विकास को लेकर कई प्रयास किए जा रहे हैं। महिलाओं के कौशल विकास पर सरकार विशेष ध्यान है। लेकिन एक सर्वेक्षण के अनुसार कार्यबल में महिलाओं का प्रतिनिधित्व 2018 में बेहद कम हुआ है।

राहुल गांधी द्वारा एयर स्ट्राइक पर सबूत मांगने पर विफरे शाह, बोले- शर्म करें राहुल

डेलॉइट द्वारा बृहस्पतिवार को जारी एक सर्वेक्षण रिपोर्ट के हिसाब से वर्ष 2005 में जहां नौकरी-पेशा क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी 36.7 प्रतिशत थी। वही 2018 में घटकर 26 प्रतिशत आ गई है। वहीं असंगठित क्षेत्र या बिना पारिश्रमिक वाले क्षेत्र में 19.5 प्रतिशत महिलाएं कार्यरत हैं।

राफेल मामले में मोदी सरकार की दलीलों पर प्रेस संगठनों ने जताई चिंता

रिपोर्ट में इसकी अहम वजह अच्छी शिक्षा तक महिलाओं की पहुंच कम होना और डिजिटल विभेद (डिजिटल डिवाइड) का बढ़ना बतायी गई है। रपट में कहा गया है कि देश ही नहीं दुनियाभर में रोजगार क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी कम होने की प्रवृत्ति देखी जा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.