Wednesday, Jan 27, 2021

Live Updates: Unlock 8- Day 26

Last Updated: Tue Jan 26 2021 10:47 AM

corona virus

Total Cases

10,677,710

Recovered

10,345,278

Deaths

153,624

  • INDIA10,677,710
  • MAHARASTRA2,009,106
  • ANDHRA PRADESH1,648,665
  • KARNATAKA936,051
  • KERALA911,382
  • TAMIL NADU834,740
  • NEW DELHI633,924
  • UTTAR PRADESH598,713
  • WEST BENGAL568,103
  • ODISHA334,300
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • RAJASTHAN316,485
  • JHARKHAND310,675
  • CHHATTISGARH296,326
  • TELANGANA293,056
  • HARYANA267,203
  • BIHAR259,766
  • GUJARAT258,687
  • MADHYA PRADESH253,114
  • ASSAM216,976
  • CHANDIGARH183,588
  • PUNJAB171,930
  • JAMMU & KASHMIR123,946
  • UTTARAKHAND95,640
  • HIMACHAL PRADESH57,210
  • GOA49,362
  • PUDUCHERRY38,646
  • TRIPURA33,035
  • MANIPUR27,155
  • MEGHALAYA12,866
  • NAGALAND11,709
  • LADAKH9,155
  • SIKKIM6,068
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,993
  • MIZORAM4,351
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,377
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
worship goddess lakshmi to get rid of different types of fears you will get this benefit pragnt

विभिन्न प्रकार के भय से मुक्ति पाने के लिए लक्ष्मी मां से करें ऐसे उपासना, मिलेगा ये लाभ

  • Updated on 12/17/2020

नई दिल्ली/ पं. कमल राधाकृष्ण श्रीमाली। अगर आपको किसी दुर्घटना व आघात से भय रहता हो तो आप रुद्राक्ष की 108 दानों की माला गले में रोजाना धारण रखें।

  • अगर दुर्घटना का भय होता हो तो प्राण प्रतिष्ठित व पूजन विधान की हुई हत्थाजोड़ी का प्रयोग करना चाहिए।
  • अगर आपको दुर्घटना व आघात से हानि होने का अंदेशा है तो लक्ष्मण वनस्पति के जड़ को प्राण प्रतिष्ठित करवाकर एक चांदी के कवच में डालकर उसे अपने गले में धारण करने से आप ऐसी किसी भी होनी-अनहोनी से सुरक्षा पाएंगे।

किन वजहों से आपकी शादी में आ सकती है देरी, बाधाओं को दूर करने के लिए इन बातों का रखें ध्यान

महामृत्युंजय मंत्र का प्रयोग करें
इस मंत्र का एक माला जप करने से छोटी-बड़ी मुसीबत से रक्षा होती है तथा शरीर के लिए भी सुरक्षा चक्र काम करता है।

ऊँ ú त्रयम्बकम् यजामहे सुगंधिम् पुष्टि वर्धनम्।
उर्वारूकमिव बंधनान्मृत्र्योमुक्षीय मामृतात्।।

  • अगर किसी सम्पत्ति के नुक्सान का भय सता रहा है तो अपने घर में श्रीफल तथा दक्षिणावर्ती शंख प्राण-प्रतिष्ठा करके स्थापना करने से संपत्ति के नुक्सान व चोरी इत्यादि के होने वाले नुक्सान से सुरक्षा होती है।
  • ऌअगर आप निर्गुंडी के पौधे को पुष्य नक्षत्र के दिन अपने घर में लाकर प्राण-प्रतिष्ठा करवाकर पूजा घर में रखें तो धन की हानि व चोरी से सुरक्षा रहती है।
  • श्वेतार्क गणपति को अपने घर में स्थापित करें और चोरी के भय से मुक्ति पाएं।
  • अगर आपके घर में कलह होती हो या पति-पत्नी में अक्सर तकरार रहती हो तो पति शुक्र यंत्र धारण करे व पत्नी गुरु यंत्र धारण करे तो घर में हो वाली कलह से मुक्ति पाई जा सकती है और संबंध मजबूत होते हैं।
  • उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र में आम का बांदा लाकर उसे विधि-विधान के साथ धारण करें तो घर-परिवार में सौहार्द व रिश्तों में निकटता आती है।
  • अगर पति-पत्नी दोनों ही फिरोजा रत्न धारण करें तो गृह कलह से मुक्ति मिलती है और आपसी प्रेमभाव बढ़ता है।
  • अगर माता-पिता को अपनी संतान की दुष्ट प्रवृत्ति तथा अच्छे लक्षण दिखाई न दें तो उसे तीन मुखी रुद्राक्ष गले में धारण करवाना चाहिए। यह उसके बुरे विचारों को पनपने से रोकेगा।
  • एक उत्तम तुलसी की माला धारण करने से मन में होने वाली कपटता पर अंकुश लगता है और वह शुद्ध आचरण करने लग जाता है।
  • अगर कोई अपराधी भाव वाला व्यक्ति है तो उसको108 दानों की पांच मुखी रुद्राक्ष जडि़त माला को अपने गले में धारण करना चाहिए। इसे धारण करने से अपराध भाव कम होने लगता है।
  • ऊँ ह्रीं श्रीं ऐं वाग्वादिनी भगवती अर्हनमुख निवासिनी सरस्वती ममास्ये प्रकाशं कुरु कुरु स्वाहा ऐं नम:। का एक माला जाप प्रतिदिन करने से बुरे विचारों एव दुष्ट प्रवृत्ति पर अंकुश लगता है व व्यक्ति इससे मुक्त होता है।
Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.