Tuesday, Oct 26, 2021
-->
worship-of-mother-mahagauri-who-fulfills-wishes

मनोकामना पूर्ण करने वाली मां महागौरी का हुआ पूजन

  • Updated on 10/13/2021

नई दिल्ली। टीम डिजिटल। राजधानी के मंदिरों में शनिवार को मां दुर्गा के आठवें स्वरूप मां महागौरी का पूजन व श्रृंगार और आरती विधि-विधान से किया गया। शिव संगनी महागौरी मनोकामना पूर्ण करने वाली हैं और उनको गौरवर्ण की उपमा शंख चंद्र और कुंद के फूल से की जाती है। चारभुजाधारिणी मां का वाहन वृषभ व सिंह दोनों को माना गया है। पूरे दिन मां के दर्शन करने के लिए भक्तों का तांता मंदिरों में लगा रहा। मां के जयघोष से मंदिर के प्रांगण गूंजते रहे।
भयमुक्त करने वाली मां कालरात्रि की हुई मंदिरों में पूजा-अर्चना

अष्टमी व नवमी पर चौबीसों घंटे खुलेगा मंदिर
मां झंडेवालान मंदिर में अष्टमी के चलते पूरे दिन भक्तों की अपार भीड देखने को मिली क्योंकि कहा जाता है कि अष्टमी के दिन मां झंडेवाली से सच्चे दिल से मांगी गई सभी मनोकामनाओं को मां पूरा करती हैं। यही वजह है कि भक्तों की सहूलियत के चलते सारी रात मंदिर खोला जाएगा। अष्टमी होने के कारण अष्टमी जागरण ज्योत प्रचंड रात्रि 9.00 बजे की जाएगी, इसका प्रसारण झंडेवाला देवी मंदिर यूट्यूब चैनल पर किया जायेगा। माँ की सेवादार मंडली व अर्जुन सूरी द्वारा महामाई का गुणगान किया जायेगा। सुबह 4 बजे अष्टमी जागरण की समाप्ति के बाद कन्या पूजन किया जायेगा व जागरण सम्पन्न होगा। उपस्थित सभी भक्तों को जागरण का प्रसाद दिया जायेगा। वहीं सिर्फ दो दिन छतरपुर मंदिर के आद्या कात्यायनी मां के पट खुले होने की वजह से लंबी-लंबी कतारें देखने को मिली। छतरपुर मंदिर में पूरे दिन दुर्गासप्तशती व अखंड रामायण का पाठ भी चलता रहा।
मां कात्यायनी की पूजा-अर्चना कर लोगों ने मांगी दुआएं


आज होगी कामना सिद्ध करने वाली मां सिद्धिदात्री की पूजा
नवरात्रि के अंतिम दिन यानि नवमी तिथि को मां के नौंवे स्वरूप मां सिद्धिदात्री की पूजा-अर्चना की जाएगी। पौराणिक कथाओं के अनुसार मां सिद्धिदात्री समस्त प्रकार की सिद्धियों को देने वाली हैं। साधक को सृष्टि में कुछ भी अगम्य नहीं रह जाता और ब्रहमांड पर पूर्ण विजय प्राप्त करने की सामथ्र्य उसमें आ जाती है। इनकी अनुकंपा से ही भगवान शिव का आधा शरीर देवी का हुआ था और वो अद्र्धनारीश्वर नाम से प्रसिद्ध हुए। चार भुजाधारिणी मां का वाहन सिंह हैं और ये कमल पुष्प भी आसीन होती हैं।  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.